भारतीय राजनीति में साम्प्रदायिकता को उत्प्रेरक के रूप में उपयोग किया जाता है

Posted On by & filed under राजनीति

शैलेन्द्र चौहान भारत में जब भी साम्प्रदायिकता की बात चलती है तो उसका आशय हिन्दू मुस्लिम सम्बंधों में आपसी द्वेष से लिया जाता है। यदि साम्प्रदायिक समस्या के समाधान की भी बात की जाती है तो भी हिन्दू मुस्लिम विरोध को समाप्त करने का ही अर्थ लिया जाता है। असल में भारत में सम्प्रदाय का… Read more »