धर्मांतरण क़ानून पर चुप क्यों शकुनि राजनीतिज्ञ?

Posted On by & filed under टॉप स्टोरी, समाज, हिंद स्‍वराज

सामयिक है कि देश धर्मांतरण पर गांधीजी के विचार पढ़े यद्दपि मैं व्यक्तिगत रूप से इस देश का हिन्दू होनें के नातें हिंदुत्व के प्रति दबाव और भय में हूँ तथापि आगरा की घटना के बाद गुस्साए हुए तथाकथित विकसित, सेकुलर, बुद्धिजीवी और प्रगतिशील समाज (स्वयंभू) की स्थिति पर मुझे बड़ा आनंद आ रहा है!… Read more »