अब दलित मुक्ति के सवाल पर सोचिए

Posted On by & filed under विविधा

सही मायने में बाजारवादी व्यवस्था ही है दलितों की असली शत्रु पिछले दिनों 14 अप्रैल को बाबा साहेब आंबेडकर की जयंती पर राहुल गांधी से लेकर मायावती और नितिन गडकरी तक सभी दलों के नेता बाबा साहेब के सपनों के प्रति अपनी आस्था जताते दिखे। किंतु इन सपनों के साथ सही संकल्प कहां हैं। आज… Read more »