मुठभेड़ फर्जी या तर्क फर्जी ?

Posted On by & filed under राजनीति

ऐसे तर्क देकर देश के ये नेता अपने तर्कों को फर्जी सिद्ध कर रहे हैं। फर्जी तर्क देने वाले ये नेता यह नहीं जानते कि वे अपने ही पैरों पर कुल्हाड़ी मार रहे हैं। वे हिंदू वोट बैंक को मजबूत बना रहे हैं। उन्होंने अपने दिमाग ताक पर रख दिए हैं। उन्होंने इन हत्यारे आतंकियों पर रो-रोकर अपने कपड़े गीले कर लिये हैं लेकिन उस बहादुर शहीद हवलदार रमाशंकर यादव के लिए उनके पास एक शब्द भी नहीं है।