लेखक परिचय

जयराम 'विप्लव'

जयराम 'विप्लव'

स्वतंत्र उड़ने की चाह, परिवर्तन जीवन का सार, आत्मविश्वास से जीत.... पत्रकारिता पेशा नहीं धर्म है जिनका. यहाँ आने का मकसद केवल सच को कहना, सच चाहे कितना कड़वा क्यूँ न हो ? फिलवक्त, अध्ययन, लेखन और आन्दोलन का कार्य कर रहे हैं ......... http://www.janokti.com/

Posted On by &filed under प्रवक्ता न्यूज़.


tasleemaपिछले सप्ताह ६ अगस्त को भारत वापस आई  तसलीमा का वीजा छः महीने के लिए बढा दिया गया है . विवादास्पद लेखिका तसलीमा नसरीन को इसी वर्ष मार्च महीने में भारत छोड़ने का फरमान सुनाया गया था . कोलकाता में कट्टरपंथियों के विरोध के बाद तसलीमा को  किसी अज्ञात स्थान पर रखा गया था . जिसके बाद तसलीमा यूरोप चली गयी थी .

एक बयान में तस्लीमा ने कहा कि मैं सिर्फ इतना कहना चाहती हूं कि भारत सरकार द्वारा यहां और छह महीने रहने की अनुमति देने के लिए मैं उनकी आभारी हूं। फिलहाल , वो न्यूयॉर्क यूनीवर्सिटी में शोधार्थी के रूप में काम कर रही हैं और उनकी फेलोशिप इस साल दिसंबर में खत्म हो जाएगी।उन्होंने कहा ; मुझे न्यूयॉर्क जाना है, लेकिन मैं भारत में रहने के लिए जनवरी में वापस लौटूंगी। 47 वर्षीय लेखिका तसलीमा ने महिलाओं और हिन्दुओं पर बांग्लादेश में हो रहे लोमहर्षक अत्याचारों पर कई उपन्यास और कहानियाँ लिखी हैं । इस वजह से लेखिका को वहां से भाग कर भारत में शरण लेनी पड़ी थी लेकिन मुसीबतों ने यहाँ भी पीछा नही छोड़ा । दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में तसलीमा पर जानलेवा हमले भी किए गए । सबसे आर्श्चय की बात है कि यह हमला एक जनप्रतिनिधि (लोकतंत्र के प्रहरी) ने किया ! इससे बड़ा दुर्भाग्य और क्या हो सकता है कि हम कुछ पोंगापंथियों के भय से एक महिला शरणार्थी के अधिकारों की रक्षा नहीं कर सकते !tasleema

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz