लेखक परिचय

रोहित श्रीवास्तव

रोहित श्रीवास्तव

रोहित श्रीवास्तव एक कवि, लेखक, व्यंगकार के साथ मे अध्यापक भी है। पूर्व मे वह वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के निजी सहायक के तौर पर कार्य कर चुके है। वह बहुराष्ट्रीय कंपनी मे पूर्व प्रबंधकारिणी सहायक के पद पर भी कार्यरत थे। वर्तमान के ज्वलंत एवं अहम मुद्दो पर लिखना पसंद करते है। राजनीति के विषयों मे अपनी ख़ासी रूचि के साथ वह व्यंगकार और टिपण्णीकार भी है।

Posted On by &filed under व्यंग्य.


politiciansअगर देश मे कभी जनसंख्या बढ़ाने के लिए जागरूकता अभियान चलाया गया। तो शायद जागरूक संदेश कुछ ऐसा होगा।

 

देश ने आपको क्या नहीं दिया। :-

 

जयललिता के रूप मे अम्मादी।

ममता के रूप मे दीदीदी।

नेहरू के रूप मे चाचादिये।

गांधी के रूप मे बापूदिये।

आसाराम के रूप मे बाबादिये।

आज़म के रूप मे चच्चादिये।

अमर सिंह जैसे भैयादिये।

डिंपल जैसी भाभीदी।

मायावती जैसी बहन दी।

हज़ारे के रूप मे अन्नादिये।

मुख्यमंत्री के रूप मे पनीरदिया।

भ्रष्टाचारियों ने अपना जमीरदिया।

राखी ने कारण-अर्जुन दिये।

केजरी जैसे ईमानदारनेता दिये।

राहुल जैसे बच्चेदिये।

मोदी ने अच्छेदिन का नारा दिया।

देश ने आपको सिद्धूदिया।

सिद्धू ने ठोको गुरुदिया।

कपिल से मिला बाबा जी का ठुल्लू

तुझसे क्या मिला देश को उल्लू

बोनी ने अर्जुनदिया।

और आपने अभी बौनीतक नहीं की।

 

देश ने आपको क्या नहीं दिया। बाबा, बापू, चाचा, दीदी, भैया, अन्ना । आप अब देश को क्या देंगे।

 

देश मांग रहा है आपका बलिदान …जनसंख्या वृद्धि मे दो योगदान।

मेरा भारत …सबसे महान 🙂

 

PS: शायद ही देश मे कभी ऐसी स्थिति बनेगी जब ऐसा कोई जागरूकता आंदोलन चलाया जाए।

Leave a Reply

2 Comments on "देश ने आपको क्या नहीं दिया"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
रोहित श्रीवास्तव
Guest
रोहित श्रीवास्तव

शुक्रिया प्रकाश भाई। मारो पर प्यार से। यही व्यंग्यकार की कला है और निशानी भी 😀

Prakash Srivastava
Guest

बड़ा जबरदस्त थप्पड़ बजाये हो भाई वो भी प्यार से

wpDiscuz