लेखक परिचय

रमेश पांडेय

रमेश पांडेय

रमेश पाण्डेय, जन्म स्थान ग्राम खाखापुर, जिला प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश। पत्रकारिता और स्वतंत्र लेखन में शौक। सामयिक समस्याओं और विषमताओं पर लेख का माध्यम ही समाजसेवा को मूल माध्यम है।

Posted On by &filed under विविधा.


-रमेश पाण्डेय-

pakistan and talibanस्वतंत्रता दिवस के ठीक बाद पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है। पड़ोसी मुल्क ने जम्मू के पुंछ में मेंढर के पास एलओसी पर भारी गोलीबारी की है। 17 अगस्त 2014 की सुबह 9.30 बजे बालाकोट इलाके में पाकिस्तान की ओर से भारी मशीनगनों से फायरिंग की गई। भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए भारी गोलीबारी की। इससे पहले रात भर जम्मू-कश्मीर के आरएस पुरा और अर्निया सेक्टर की 6 चौकियों पर पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी की गई। हलांकि दोनों ओर से कोई नुकसान होने की खबर नहीं है। पिछले 7 दिनों में यह पाकिस्तान की ओर से पांचवां सीजफायर उल्लंघन है। पाकिस्तान ने देर रात 2रू30 बजे सीमा से सटी आरएसपुरा सेक्टर की पित्तल चौकी और टेंट गार्ड पर फायरिंग शुरू की। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने भी कम शक्ति वाले हथियारों से करारा जवाब दिया। पाकिस्तानी रेंजर्स ने अपनी थट्टी, घुग, लालियल और जमशेद से कम शक्ति के हथियारों और 82 एमएम मोर्टार से भारतीय चौकियों पर हमले किए। बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी रेंजर्स पिछले हफ्ते भारतीय सेना की उस जवाबी कार्रवाई का बदला लेने की फिराक में है, जिसमें पाकिस्तान के दो नागरिकों की मौत हो गई थी और 6 घायल हो गए थे। केन्द्र में नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बन जाने के बाद जिस तरह से उन्होंने एक कदम आगे बढ़ाते हुए पाकिस्तान की ओर दोस्ती का हाथ बढ़ाया, उससे लगा कि पाकिस्तान अपने रवैये में कुछ बदलाव जरुर लाएगा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ द्वारा लगातार इस बात का भरोसा दिया जाता रहा कि वह भारत के साथ अच्छे संबंध बनाने के पक्षधर हैं। पर भारत और पाकिस्तान की सीमा पर लगातार किए जा रहे सीजफायर के उल्लंघन को आखिर भारत कब तक बर्दाश्त करेगा। देश के 68वें स्वतंत्रता दिवस से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस तरह से जम्मू-कश्मीर और लेह लद्दाख का दौरा करके सेना का मनोबल बढ़ाया है, वह काबिले तारीफ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने दौरे में इस बात का भी जिक्र किया था कि पाकिस्तान में सीधी लड़ाई लड़ने का दम नहीं है। वह छद्म युद्ध कर रहा है। ऐसे में लगातार पाकिस्तान द्वारा किए जा रहे सीज फायर के उल्लंघन से साफ हो गया है कि शठे शाट्ठयम समाचरेत। पाकिस्तान को भारतीय सेना को उसी की भाषा में जवाब देना होगा।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz