लेखक परिचय

अभिनव शंकर

अभिनव शंकर

लेखक प्रौद्योगिकी में स्नातक(B.tech) हैं और फिलहाल एक स्विस बहु-राष्ट्रीय कंपनी में कार्यरत हैं।

Posted On by &filed under मीडिया, राजनीति.


अभिनव शंकर

पिछले लेख में मुख्यतः इस घोटाले की “परिकल्पना” बतायी गयी थी, पृष्ठभूमि समझाई गयी थी,बताया गया की कैसे एक बेहद सुनियोजित,सामरिक रूप से बेहद संवेदनशील एवं राष्ट्र-कल्याणकारी योजना अन्तराष्ट्रीय साजिशों का शिकार बनी.अब इस साजिश को अमल में कैसे लाया गया इसकी बात करते हैं. लेकिन इससे पहले इस घोटाले के अर्थशास्‍त्र पर एक पुनर्दृष्टि डालते हैं. ४८ लाख करोड़ की हानि का जो आकलन अभी तक किया जाता रहा है वो थोरियम के १००$ प्रति टन के अनुमानित कीमत के आधार पर है. दी स्टेट्समैन अखबार ने(http://www.thestatesman.net/index.php?option=com_content&view=article&id=422057&catid=38) सबसे पहले इस नुक्सान का आर्थिक आकलन किया था जो उसने विशेषज्ञों के अनुमान के आधार पर बताया था.लेकिन १००$ प्रति टन की ये कीमत वो कीमत है जिस पर IREL (India Rare Earth लिमिटेड: भारत सरकार का वो उपक्रम जिसे भारत के रेत से या किसी भी अन्य पदार्थ से थोरियम को निकलने का एकाधिकार प्राप्त है यानि कोई और संस्था-सरकारी या निजी थोरियम को उत्कार्षित नहीं कर सकता सिवाय IREL के); NPCIL (Nuclear Power Corporation of India Limited ) या अन्य सरकारी एजेंसियों को भारत के अन्दर ही भारत सरकार के परमाणु योजना के अंतर्गत बेचता है.अगर इसकी अन्तराष्ट्रीय कीमत जाननी हो तो युएसऐ के जेओग्रोफिकल सर्वे के आकड़ों( http://minerals.usgs.gov/minerals/pubs/commodity/thorium/myb1-2010-thori.pdf  ) पर जाना होगा.पृष्ठ संख्या 2 पर “Price”-पाराग्राफ में 99.9% शुद्ध थोरियम की कीमत जेओग्रोफिकल सर्वे ऑफ़ अमेरिका 300 $ प्रति किलोग्राम अनुमानित करता है.भारत से निकलने वाला थोरियम 99.92-99.96% तक शुद्ध होता है, इस हिसाब से घोटाले करके बाहर भेजे गए थोरियम की कुल कीमत 150,000,000000,00000000 रु० आती है-एक सौ पचास हज़ार लाख करोड़!!!! ये आंकड़े इसलिए भी विश्वसनीय है क्यूंकि अमेरिका खुद अपना जो भी थोडा-बहुत थोरियम बाहर निर्यात करता है वो इसी कीमत या इससे अधिक पर करता है.इसी दस्तावेज के अगले पेज पर Foreign Trade के पाराग्राफ में सन 2010 के थोरियम निर्यात के आकड़ें मिल जायेंगे.इस के मुताबिक कुल 1500 किलोग्राम थोरियम अमेरिका ने 2010 में निर्यात किया जिसका मूल्य 60500 $ था यानि 403 .33 $ प्रति किलोग्राम!!! यानि ये साफ़ है की अंतर-राष्ट्रीय बाज़ार में थोरियम की कीमत कम से कम 300 $ प्रति कि.ग्रा. प्रचलित और मान्यता-प्राप्त है.

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz