लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under प्रवक्ता न्यूज़.


डा- राधेश्याम द्विवेदी

विश्व पशु चिकित्सा दिवस (World Veterinary Day) प्रत्येक वर्ष अप्रैल महीने का अंतिम शनिवार तिथि 30 अप्रॅल 2016 को मनाया जाता है। शुरुआत वर्ष 2000 से मनाया गया। विश्व पशु चिकित्सा संघ के द्वारा पशुओं में पाए जाने वाले जीवाणुओं का दवाओं के प्रति प्रतिरोध विषय पर चर्चा और बीमारियों के बारे में लोगों को जागरूक करना उद्देश्य है । वर्ष 2010 में विश्व पशु चिकित्सा दिवस का थीम था- ‘वन वर्ल्ड, वन हेल्थ: पशु चिकित्सकों और चिकित्सकों के बीच ज्यादा सहयोग करना। आधिकारिक वेबसाइट अद्यतन‎ है । वर्ष 2010 का विश्व पशु चिकित्सा दिवस 24 अप्रैल को मनाया गया। वर्ष 2000 से विश्व पशु चिकित्सा संघ के द्वारा विश्व पशु चिकित्सा दिवस मनाया जा रहा है। विश्व पशु चिकित्सा दिवस के अवसर पर पशु चिकित्सालयों में पशुओं में पाए जाने वाले जीवाणुओं का दवाओं के प्रति प्रतिरोध विषय पर चर्चा की जाती है और लोगों को इस बारे में जागरूक किया जाता है।
लुवास हिसार के विस्तार शिक्षा निदेशालय 27 अप्रैल 2016 को गांव मामनपुरा में विश्व पशु चिकित्सा दिवस मनाया गया। कार्यक्रम के संयोजक डॉ. देवेन्द्र सिंह के अनुसार इस अवसर पर मनुष्य-पशु-पर्यावरण परस्पर निर्भरता से स्वास्थ्य संवर्धन के विषय पर किसान जागरूकता एवं गोष्ठी किया गया। इस दौरान पशुओं से मनुष्यों में होने वाले रोग पर्यावरण स्वच्छता के बारे में ग्रामीणों को जागरूक किया गया।
विश्व पशु चिकित्सा दिवस के अवसर पर 16 05 2015 को पशु चिकित्सा एवं पशुपालन महाविद्यालय, महू इंदौर द्वारा शहर में अधिष्ठाता डा. उमेश कुमार गर्ग के नेतृत्व में एक विशाल रैली एवं मानव श्रृंखला बनाकर पशुओं से मनुष्यों में फैलने वाले रोग जैसे – बर्ड फ्लू, स्वाईन फ्लू, इत्यादि की रोकथाम एवं पशु स्वास्थ्य कल्याण के प्रति लोगों में जागरूकता स्वरूप संदेश दिया गया। इस रैली का शुभारंभ एस.डी.एम. श्री विजय कुमार अग्रवाल द्वारा हरी झंडी दिखाकर किया। रैली में बड़ी संख्या में महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं, प्राध्यापकगण एवं कर्मचारीगण सम्मिलित हुए। डॉ. जयराव एवं डॉ. सचिन औदर्य द्वारा पशुओं से मनुष्यों में वाहकों द्वारा फैलने वाले रोग एवं रोकथाम विषय पर व्याख्यान दिये गये। यह जानकारी महाविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी डॉ. आर.के. जैन एवं डॉ. दीपक गांगिल ने दी।
विश्व पशु चिकित्सा दिवस पर शनिवार को उपमंडलीय पशु चिकित्सालय मंडी के परिसर में 26 04 2015 को कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सेवानिवृत्त उपनिदेशक डॉ. टीआर नंदा ने की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पशु चिकित्सा दिवस के आयोजन से हमें पशुओं से संबंधित बीमारियों तथा उनकी रोकथाम के बारे में जानकारी प्राप्त होती है। इस वर्ष विश्व पशु चिकित्सा दिवस का मुख्य विषय मनुष्यों को पशुओं से होने वाली रोगाणु वाह्क बीमारियां था। उन्होंने कहा कि आज मीडिया का युग है तथा प्रचार-प्रसार के माध्यम से भी पशु चिकित्सा के क्षेत्र में लोगों को जागरूक किया जा सकता है। कार्यक्रम में डॉ. जीवन लाल ने पशुओं से मनुष्य में होने वाली बीमारियों के बारे में बताया जबकि डॉ. दीप ठाकुर ने पशुओं के कल्याण के बारे में बताया। उपनिदेशक पशुपालन विभाग डॉ. केके शर्मा ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया तथा योजनाओं की जानकारी दी। कार्यक्रम में सहायक निदेशक, पशु पालन विभाग डॉ. जीवन लाल, डॉ. रंजीव कपूर, डॉ. पीके पाडे, डॉ. जय सिंह सेन, जिला के सभी पशु चिकित्सालयों के डॉक्टरों सहित जिला के पशुपालकों तथा गोसदन संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz