ट्रंप और नेतन्याहू की बासी कढ़ी

ट्रंप और नेतन्याहू की बासी कढ़ी
डॉ. वेदप्रताप वैदिक
इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपना मजाक बना लिया है। उन्होंने एक जर्बदस्त प्रेस कांफ्रेंस कर डाली यह सिद्ध करने के लिए कि ईरान परमाणु शस्त्रास्त्र जोरों से बना रहा है। ऐसा करके ईरान उन छह राष्ट्रों की आंखों में धूल झोंक रहा है, जिन्होंने उसके साथ 2015 में परमाणु-समझौता किया था और उस पर लगे आर्थिक प्रतिबंध उठा लिए थे। नेतन्याहू की मांग है कि ईरान पर दुबारा प्रतिबंध लगाए जाएं और उस समझौते को रद्द किया जाए। अपने कथन की सत्यता सिद्ध करने के लिए नेतन्याहू ने लगभग 10 हजार गुप्त ईरानी दस्तावेजों को खोज निकालने का दावा भी किया है। ये दस्तावेज फारसी भाषा में हैं और इन्हें इस्राइली जासूसों ने ईरान से उड़ाया है।
नेतन्याहू के तर्कों को अमेरिका के अलावा उन सभी राष्ट्रों ने रद्द कर दिया है, जिन्होंने उस समझौते पर दस्तखत किए थे। चीन और रुस को अमेरिका के प्रतिद्वंदी मानकर छोड़ दें तो भी फ्रांस और ब्रिटेन जैसे देशों ने भी कहा है कि नेतन्याहू ने कोई नया साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किया है बल्कि उन्होंने वे ही दस-पंद्रह साल पुराने तथ्य पेश कर दिए हैं, जिनके आधार पर ईरान के विरुद्ध प्रतिबंध लगाए गए थे। यही बात वियना की परमाणु-नियंत्रण एजेंसी ने कही है। संयुक्तराष्ट्र संघ द्वारा अधिकृत इस एजेंसी के इंस्पेक्टर ईरानी परमाणु-संयत्रों और ईंधन पर अत्यंत कठोर निगरानी रखते हैं। यूरोपीय संघ ने भी नेतन्याहू के तर्कों को ध्वस्त कर दिया है। लेकिन अमेरिका के सर्वज्ञजी डोनाल्ड ट्रंप ने नेतन्याहू की पीठ जमकर थपथपाई है और कहा है कि इस्राइली प्रधानमंत्री 100 प्रतिशत सही है। अमेरिकी कानून के मुताबिक ट्रंप को हर 90 दिन बाद इस समझौते को हरी झंडी देनी होती है। 12 मई को वह अवधि पूरी हो रही है। हो सकता है कि अपने दुराग्रह पर डटे रहने का दम भरने के लिए ट्रंप ईरान को लाल झंडी दिखा दें। उनके नए विदेश मंत्री माइक पोंपियो और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जाॅन बोल्टन यही चाहते हैं। ट्रंप का सोच शायद यह है कि जैसे उत्तर कोरिया के किम को धमकियां देकर उन्होंने डरा लिया, वैसे ही वे ईरान को भी झुका लेंगे। पश्चिम एशिया के कई क्षेत्रों में अमेरिका, इस्राइल और सउदी अरब को ईरान टक्कर दे रहा है। उसे डराने के इस अमेरिकी पैंतरे ने ट्रंप और नेतन्याहू दोनों को अंतरराष्ट्रीय विदूषक बना दिया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: