डॉ. हेडगेवार ‘शतरंज’ प्रतियोगिताः वीके सिंह ने किया शुभारंभ

-कुमार सुशांत-

tiff infomation

नई दिल्ली। नई दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में आज से डॉ. हेडगेवार शतरंज प्रतियोगिता का शुभारंभ हो गया। प्रतियोगिता का उद्घाटन केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम के उद्घाटन के बाद श्री सिंह ने कहा कि शतरंज एक ऐसा बौद्धिक खेल है, जो हमें नीति और रणनीति दोनों के बेहतर तालमेल बनाने की प्रेरणा देता है, जो हर क्षेत्र में जरूरी है। वहीं दरियागंज की पार्षद सिम्मी जैन ने कहा कि डॉ. हेडगेवार जी के जीवन से प्रेरणा लेते हुए इस तरह का टूर्नामेंट बच्चों के विकास और उत्साह के लिए काफी जरूरी है। इस मौके पर कई ग्रैंडमास्टर्स भी शिरकत करते नज़र आए। ग्रैंडमास्टर्स में पीएम थिप्सय, वैभव सूरी, सहज ग्रोवर, श्रीराम झा शामिल हैं, वहीं वूमेन ग्रैंडमास्टर्स में तानिया सचदेव रहीं,, इंटरनेशनल मास्टर्स अतानु लाहिरि भी मौजूद रहे। पहले राउंड के दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी शामिल हुए।

 

कार्यक्रम के मुताबिक, 28 अप्रैल को तीसरे राउंड के दौरान अतिथि एचएस ब्रह्मा (इसीआई) होंगे, वहीं उसी दिन चौथे राउंड के लिए रुसी राजदूत एमएस काडाकीन होंगे। 29 अप्रैल को पांचवें राउंड के लिए अतिथि के रूप में केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर मौजूद होंगे, वहीं उसी दिन छठे राउंड के दौरान केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी होंगे। 30 अप्रैल को सातवें राउंड के दौरान अतिथि केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूढ़ी होंगे, वहीं उसी दिन आठवें राउंड के दौरान केंद्रीय विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री जितेंद्र सिंह होंगे। एक मई को नौवें राउंड के दौरान अतिथि महेश शर्मा होंगे, वहीं पुरस्कार का वितरण केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह व केंद्रीय युवा मामलों व खेल मंत्री सरबनंदा सोनवाल करेंगे। बता दें कि ऐसा शायद पहली बार होगा कि नई दिल्ली में आयोजित हो रही शतरंज प्रतियोगिता के लिए अलग-अलग राउंड्स में अलग-अलग केंद्रीय मंत्री मौजूद होंगे। प्रतियोगिता के आयोजन समिति के संयोजक शिरिश जैन बताते हैं कि शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन ही इसलिए किया गया क्योंकि यही एक खेल है जो हमें जीवन में धैर्यवान होने की प्रेरण देता है। इसके अलावा जीवन में यह भी सीख देता है कि योजना और क्रियान्वयन का बेहतर तालमेल हो तो जीवन में एक छोटा मनुष्य भी बहुत बड़ा कर सकता है।

बता दें कि यह प्रतियोगिता एक मई तक चलेगी। इस टूर्नामेंट में अलग-अलग स्तर पर विजयी प्रतिभागियों के बीच 10 लाख रुपए तक की इमानी राशि वितरित की जानी है।

इस प्रतियोगिता में सबसे अधिक आकर्षण का केंद्र बने हैं, दृष्टिहीन बच्चे। गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी फॉर ब्लाइंड ब्यॉयज के बच्चों के साथ कई और स्कूली बच्चे बेहतर खेल दिखा रहे हैं। इस प्रतियोगिता ने कुल 15 ऐसे बच्चे शामिल हैं, जिनके आंखों में भले ही रौशनी न हो, लेकिन हौंसले बुलंद हैं। सत्यप्रकाश, राकेश, शशांक ने बताया कि उन्हें इस प्रतियोगिता में आकर बहुत अच्छा लगा और वह इस प्रतियोगिता को लेकर खासे उत्साहित हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: