खत्म होती बादशाहत

इस सीरीज़ के खत्म होने के बाद आस्ट्रेलिया को अपने घरेलू मैदान पर साउथ अफ्रीका से टेस्ट सीरीज़ खेलनी थी.. लेकिन दौरे के पहले टेस्ट में ही आस्ट्रेलिया को पर्थ में पटखनी में मिल गई.. और साउथ अफ्रीका ने उसे आसानी से 177 रनों से हराकर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ में 1-0 की बढ़त बना ली.. ये पर्थ में साउथ अफ्रीका की आस्ट्रेलिया पर लगातार तीसरी जीत थी…

australia

पर्थ में साउथ अफ्रीका ने आस्ट्रेलिया को 177 रन से हराकर इतिहास रच दिया। और तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ में 1-0 की बढ़त बना ली। ये आस्ट्रेलिया की टेस्ट में लगातार चौथी हार है.. इससे पहले आस्ट्रेलिया को श्रीलंका ने इसी साल अपनी धरती पर 3-0 से हराया था। सिर्फ यहीं नहीं आस्ट्रेलिया को हाल ही में साउथ अफ्रीका ने पांच मैचों की घरेलू वनडे सीरीज़ में 5-0 से हरा कर क्लीन स्वीप किया था। अब सवाल ये है कि आखिर पांच बार की विश्व चैंपियन आस्ट्रेलिया को आखिरकार क्या हो गया है….इसी साल अपेक्षाकृत कमजोर माने जाने वाली श्रीलंका ने आस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज़ में बैकफुट पर धकेल दिया था… पूरी सीरीज़ में आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ श्रीलंकाई गेंदबाज़ों के सामने बेबस और लाचार नजर आ रहे थे…. मेहमान बल्लेबाज़ों की स्पिन के खिलाफ खेलने की कमजोरी उभरकर सामने आई.. सिर्फ कप्तान स्टीव स्मिथ ही बतौर बल्लेबाज़ श्रीलंका के दौरे पर अपनी छाप छोड़ने में सफल रहे…… लेकिन कप्तानी के मोर्च के तौर पर अपनी टीम सिर्फ नाकामयाबी ही दिला सके….

हालांकि वनडे और टी-20 सीरीज़ जीतने कर आस्ट्रेलिया ने अपनी लाज जरुर बचा ली.. आस्ट्रेलिया का अगला दौरा साउथ अफ्रीका था.. साउथ अफ्रीकी टीम में स्टार बल्लेबाज़ डिविलियर्स नहीं थे जबकि अमला में फार्म में नहीं थे…ऐसे में उम्मीद थी कि आस्ट्रेलिया यहां अपने विश्व चैंपियन के तमगे के अनुरुप खेलेगी… लेकिन पांच मैचों की सीरीज़ में में जिस तरह आस्ट्रेलिया का प्रदर्शन रहा उसे देखते लगा आस्ट्रेलिया जल्द से जल्द उसे भूलना चाहेगी… टीम पूरी सीरीज़ में एक भी मैच नहीं जीत सकी और उसे 5-0 की शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा.. ये इतिहास में पहला मौका था जब पांच मैचों की वनडे सीरीज़ में आस्ट्रेलिया अपने सभी मैच हार गया….

इस सीरीज़ के खत्म होने के बाद आस्ट्रेलिया को अपने घरेलू मैदान पर साउथ अफ्रीका से टेस्ट सीरीज़ खेलनी थी.. लेकिन दौरे के पहले टेस्ट में ही आस्ट्रेलिया को पर्थ में पटखनी में मिल गई.. और साउथ अफ्रीका ने उसे आसानी से 177 रनों से हराकर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ में 1-0 की बढ़त बना ली.. ये पर्थ में साउथ अफ्रीका की आस्ट्रेलिया पर लगातार तीसरी जीत थी… और वाका पर आस्ट्रेलिया ने आसानी से घुटने टेक दिए… अपनी सरज़मी पर ये आस्ट्रेलिया चार हार बाद हारा.. आखिरी बार भी आस्ट्रेलिया को साउथ अफ्रीका के हाथों 2012 में पर्थ में हार का सामना करना पड़ा था….

अब आस्ट्रेलिया के पास मौका होगा सीरीज़ के दूसरे टेस्ट मैच को जीत कर सीरीज़ में वापसी का अगर यहां आस्ट्रेलिया हारती है तो स्मिथ की कप्तानी पर खतरा होगा.. जो पहले से अपनी कप्तानी को लेकर आलचकों के निशाने पर है….ऐसे में आस्ट्रेलिया को बाउंस बैक करना होगा और उसके शीर्षक्रम के बल्लेबाज़ों को योगदान देना जबकि बाकी गेंदबाज़ों को भी मिशेल स्टार्क का साथ देना होगा.. जो अपनी सर्वश्रेष्ठ फार्म में है…नहीं तो वो दिन दूर नहीं होगा जब आस्ट्रेलिया की बादशाहत महज रिकॉर्ड तक ही सीमित रह जाएगी.
रवि कुमार छवि

Leave a Reply

%d bloggers like this: