भविष्य का मीडिया और सामाजिक- राष्ट्रीय सरोकार

कुन्‍दन पाण्‍डेय आज का युग मीडिया क्रान्ति का युग है। समाचार पत्रों की प्रसार संख्या तो अनवरत बढ़ती ही जा रही है साथ ही 24 घन्टे के समाचार चैनलों ने मिनटों में किसी भी समाचार को दर्शकों तक पहुँचाने की महत्वपूर्ण व अद्वितीय क्षमता से लोकतंत्र के चौथे खम्भे के रूप में अपनी सार्थकता को … Continue reading भविष्य का मीडिया और सामाजिक- राष्ट्रीय सरोकार