स्वभाषा विकास और हिन्दी साहित्य सम्मेलन

Posted On by & filed under विविधा

राजीव मिश्र हिन्दी साहित्य सम्मेलन, प्रयाग भारत में एकमात्र हिन्दी की संस्था है, जिससे समस्त हिंदी जगत की कामनाओं को पूर्ण करने का प्रयास किया। इसका जन्म खोई हुई आत्मनिष्ठा को वापस करने के लिए था। देश के विषाक्त वातावरण को नष्ट करके राष्ट्र की देशी मनः स्थिति, भारतीय संस्कृति और भारतीय भाषाओं में अटूट… Read more »