Posted On by &filed under राजनीति.


भाजपा शिवसेना के बीच वाकयुद्ध तेज हुआ

भाजपा शिवसेना के बीच वाकयुद्ध तेज हुआ

शिवसेना नेतृत्व को गलत ढंग से पेश करने संबंधी सोशल मीडिया पोस्टों के वायरल होने के साथ ही अगले साल निर्धारित मुंबई नगर निगम चुनावों से पहले भाजपा औा शिवसेना के बीच तनाव होने की बात परिलक्षित हो रही है। प्रतीत होता है कि सोशल मीडिया पर ये पोस्ट भाजपा के खिलाफ शिवसेना की टीका टिप्पणियों के जवाब में डाली गयी हैं।

इन पोस्टरों में ‘‘आई सपोर्ट नमो :मैं नमो का समर्थन करता हूं:’’ के नारे लिखे हैं तथा इसमें शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और पार्टी प्रवक्ता के रेखाचित्र एवं चित्र हैं।

एक पोस्टर में उद्धव का मजाक उड़ाया गया है, ‘‘यह देश पिता : दिवंगत बाल ठाकरे: एवं मातोश्री :मराठी में माता तथा मुंबई में ठाकरे परिवार का निवास: के आशीर्वाद से नहीं चलता। ’’ एक अन्य तस्वीर में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, राउत एवं उद्धव को एक थली के चट्टे बट्टे बताया गया है।

अभी तक भाजपा के किसी नेता या प्रवक्ता ने पोस्टरों की जिम्मेदारी नहीं ली है। इस बीच खबरें हैं कि यह भाजपा की मुंबई इकाई के प्रमुख आशीष शेलार की शह पर हो सकता है जिन्होंने अगले साल होने वाले महत्वपूर्ण बीएमसी चुनाव से पहले शिवसेना के खिलाफ कड़ा रूख अपना रखा है।

शिवसेना के प्रवक्ता राउत ने हाल में केन्द्र के भाजपा शासन की तुलना निजाम के शासन से की थी।

औरंगाबाद में बुधवार को शिवसेना की रैली को संबोधित करते हुए राउत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सूखा प्रभावित मराठवाड़ा क्षेत्र का दौरा नहीं करने के कारण आलोचना की थी।

राउत ने कहा था, ‘‘प्रधानमंत्री के पास पश्चिम बंगाल एवं तमिलनाडु में प्रचार करने का पूरा समय है। उन्होंने पश्चिम बंगाल में 35 चुनावी सभा और तमिलनाडु 40 सभाओं को संबोधित किया। बहरहाल, प्रधानमंत्री को मराठवाड़ा का दौरा करने का समय नहीं मिल पाया जहां किसान भीषण जल संकट के कारण मर रहे हैं।’’ महराष्ट्र के भाजपा प्रमुख रावसाहेब दाणवे ने इन कटाक्षों प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि उनकी पार्टी शिवसेना को उपयुक्त जवाब देगी।

( Source – PTI )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *