Main Story

Editor’s Picks

Trending Story

ताज़ा समाचार (Latest News)

वेब मीडिया में रोजगार की असीम संभावनाएं : जयदीप कर्णिक

माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय के आयोजन ‘हिन्दी पत्रकारिता सप्ताह’ के अंतर्गत वरिष्ठ पत्रकार जयदीप कर्णिक ने ‘वेब मीडिया में उद्यमिता’ विषय पर रखे विचार, 1 जून को काठमांडू विश्वविद्यालय, नेपाल के प्राध्यापक...

उत्तराखंड में क्वारंटीन सेंटर रह रहे लोगों की मदद के लिए हंस फाउंडेशन ने बढ़ाया हाथ

पोखड़ा,रिखणीखाल,देवप्रयाग,पंतनगर और चंपावत में बने क्वारंटीन सेंटरों में रह रहे प्रवासियों को खाद्य सामग्री उपलब्ध करवा रहा है हंस फाउंडेशन वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव...

लॉकडाउन मोबाइल मूवी मेकिंग प्रतियोगिता में लोकेन्द्र सिंह, मनोज पटेल और गजेन्द्र सिंह अवास्या की फिल्म बनी विनर

भारतीय चित्र साधना ने आयोजित की थी अखिल भारतीय प्रतियोगिता, फिल्म कलाकारों ने किया विजेता फिल्मों को रिलीज भोपाल। लेखक लोकेन्द्र सिंह एवं प्रोड्यूसर मनोज पटेल की...

डॉ शंकर सुवन सिंह राज्य सलाहकार मनोनीत

डॉ शंकर सुवन सिंह राज्य सलाहकार मनोनीत अखिल भारतीय कृषि छात्र संघ द्वारा डॉ शंकर सुवन सिंह को राज्य सलाहकार (खाद्य एवं दुग्ध प्रौद्योगिकी ),...

50 एकड़ के परिसर में शुरू होगा नया शैक्षणिक सत्र

कुलपति एवं अन्य अधिकारियों ने माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के नये परिसर का किया निरीक्षण भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय...

साहित्य

मासूम बच्चों की पीड़ा का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

डॉo सत्यवान सौरभ,  अंतर्राष्ट्रीय दिवस जनता को चिंता के मुद्दों पर शिक्षित करने के लिए, वैश्विक समस्याओं को संबोधित करने के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति और संसाधन...

ए डिफ़रंट टेक : पुस्तक की समीक्षात्मक टिप्पणी ​

विद्वान् सर्वत्र पूज्यते।एक, पुस्तक की समीक्षात्मक टिप्पणी ​Dr. Madhusudan ​(१)​विद्वान् सर्वत्र पूज्यते।​"स्वगृहे पूज्यते मूर्खः, स्वग्रामे पूज्यते प्रभुः।​ स्वदेशे पूज्यते राजा, विद्वान् सर्वत्र पूज्यते॥"​​**मूर्ख व्यक्ति का सर्वाधिक ध्यान...

परदेश और गाँव

प्रभुनाथ शुक्ल अम्मा ने परदेश जाते समयसफ़र की भूख मिटाने को दिया थागुड़ की भेलियां, अचार की फारियां औरसाथ में भरपूर रोटियां ! ! घर...

ज़़िंदगी पहले इतनी सिमटी न थी

ज़िंदगी पहले कभी इतनीसिमटी न थी।जिंदगी पहले कभी इतनीडरी डरी न थी।जिंदगी पहले इतनीअकेेेली भी न थी।अब कोई किसी के घरआता जाता नही,अब किसी को...

साँप

शाम के सात बज रहे थे। पटना के ईकलॉजिकल पार्क में अविनाश अपनी गर्लफ़्रेंड अनामिका की गोद में सिर रखकर लेटा हुआ था और अनामिका...

…और अब मोदी अंगोछा

आजकल मुखबंद (मास्क) सबकी जरूरत बन गया है। शुरू में तो इस पर असमंजस था कि इसे लगाएं या नहीं ? कुछ लोग कहते थे...