Main Story

Editor’s Picks

Trending Story

ताज़ा समाचार (Latest News)

पत्रकार योगेश गोयल को मिलेगा हिन्दी अकादमी का अनुदान

      हिन्दी अकादमी, दिल्ली द्वारा वरिष्ठ पत्रकार योगेश कुमार गोयल की पुस्तक ‘प्रदूषण मुक्त सांसें’ के प्रकाशन के लिए अनुदान दिए जाने की घोषणा की...

शरजील इमाम जहानाबाद से गिरफ्तार

  जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के स्कॉलर शरजील इमाम को गिरफ्तार कर लिया बिहार के जहानाबाद से दिल्ली और बिहार पुलिस ने मंगलवार दोपहर गिरफ्तार कर...

गुना में जुटेंगे प्रांत के युवा स्वयंसेवक

गुना में आरएसएस के महाविद्यालयीन विद्यार्थी शिविर की तैयारियां अंतिम चरण में गुना – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, मध्यभारत प्रांत के महाविद्यालयीन विद्यार्थी शिविर का आयोजन गुना में 31 जनवरी...

पद्मश्री के सच्चे हकदार थे शरीफ चाचा

शादाब जफर शादाब 25,000 से ज्यादा लावारिस लाशों को दफना व दाह संस्कार कर चुके शरीफ़ चाचा.... भारत सरकार ने साल 2020 के लिए पद्म...

ललित गर्ग ने अपनी कृति ‘जीवन का कल्पवृक्ष’ राज्यपाल को भेंट की

नई दिल्ली , 25 जनवरी 2020             हिंदी भाषा के प्रख्यात लेखक, साहित्यकार, पत्रकार एवं समाजसेवी श्री ललित गर्ग ने राजभवन, जयपुर में महामहिम राज्यपाल...

नागरिकता संशोधन क़ानून बनाम राष्ट्र विरोधी ताक़तें : हिन्दू संघर्ष समिति

नागरिकता संशोधन क़ानून बनाम राष्ट्र विरोधी ताक़तें , इस विषय पर हिन्दू संघर्ष समिति ने आज नई दिल्ली स्थित कंस्टीट्यूशन क्लब में सिटिज़न अमेंडमेंट ऐक्ट...

साहित्य

मेरी बिटिया रानी

मेरे घर जन्‍मी मेरी बिटिया, जैसे कोई नन्‍ही सी परी हो। छोटी सी प्‍यारी मेरी बिटिया जैसे गुड़िया कोई फूल सी हो। दिल की सच्‍ची...

पानी रे पानी तेरा रंग कैसा . . . .

लिमटी खरे पानी को लेकर विश्वयुद्ध तक होने की बात कही जा रही है। पानी को सुरक्षित रखना आज सबसे बड़ी चुनौति है। देश की...

वो लोग अब नही मिलते ।

शाम को साथ बैठने वाले, अपने अनुभव बांटने वाले रात को देर में सोने वाले, सुबह जल्दी जागने वाले बिना पनही चलने वाले, भोर में...

कुछ किया जाये।

ये जो संस्कृति हमारी खत्म होती जा रही है गांव से वो घूंघट सिर पे लाने को चलो अब कुछ किया जाये। मकां हैं ईंट...

नैतिक समस्याओं का मर्म और साहित्य से उपजा संभ्रम

मनोज ज्वाला आज देश के सामने जितनी भी समस्याएं और चुनैतियां हैं, उनका मूल कारण वस्तुतः बौद्धिक संभ्रम है। यह अज्ञानतावश या अंग्रेजी मैकाले शिक्षा...

एक तरफ भूखे लोग, दूसरी तरफ हो रही अन्न की बर्बादी!

लिमटी खरे परिवर्तन प्रकृति का नियम है, साल दर साल, दशक दर दशक रहन सहन, खान पान आदि में परिवर्तन आना आम बात है। यह...