Main Story

Editor’s Picks

Trending Story

ताज़ा समाचार (Latest News)

पद्मश्री से अलंकृत अशोक चक्रधर ने किया सच्चिदानंद जोशी की पुस्तक का लोकार्पण

नई दिल्ली, 25 फरवरी। प्रख्यात संस्कृतिकर्मी और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के सदस्य सचिव डा. सच्चिदानंद जोशी की रम्य रचनाओं की पुस्तक ‘जिंदगी का...

मानवाधिकारों की रक्षा पत्रकारिता की प्रतिबद्धता : प्रो. संजय द्विवेदी

नई दिल्ली, 23 फरवरी। ''एक सुंदर समाज की रचना करने में मीडिया प्रारंभ से ही लगा हुआ है। मीडिया के कारण ही मानव अधिकारों के...

बिडेन ने पूरा किया वादा, अमेरिका फिर हुआ जलवायु संधि में शामिल

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने पदभार सँभालने के बाद अपने कार्यकाल के पहले ही दिन वादे के मुताबिक़ अमेरिका को पेरिस जलवायु समझौते में वापस...

इस वजह से भारत में नहीं बन रहा जलवायु परिवर्तन एक सियासी मुद्दा!

निशान्त कभी सोचा है कोई मुद्दा सियासी कब बनता है? बात आगे बढे उससे पहले ज़रा समझ लेते हैं कि सियासत या राजनीति का मतलब...

‘हाइब्रिड वॉरफेयर’ से निपटने में सक्षम है भारतीय सेना : ध्रुव कटोच

नई दिल्ली, 19 फरवरी। ''हमारा पड़ोसी देश अब सूचनाओं के सहारे युद्ध लड़ने की कोशिश कर रहा है। लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि इस...

दिल से दिल का संवाद है दीनदयाल उपाध्याय की विशेषता : प्रो. अग्निहोत्री

नई दिल्ली, 12 फरवरी। ''अगर आप आचरण और शब्दों में एकता बनाए रखें, तो आप एक बेहतरीन कम्युनिकेटर बन सकते हैं। दीनदयाल उपाध्याय जी इस...

साहित्य

मोह में विरक्ति

श्रीमति सुधा मूर्ति के इंगलिश लेख Detachment in attachment का हिंदी अनुवाद करने का प्रयास किया है। यहाँ आये दिन उपदेशात्मक लहजे मे रोज़ लोग...

कोयल तुम बोलती हो अपनी बोली

---विनय कुमार विनायककोयल तुम बोलती हो अपनी बोली,इसलिए तू आजाद हो नीलगगन में! कोयल तुम्हारी कूक अपने दिल की,इसलिए तुम बसी हो सबके मन में!...

समय का पहिया

मानो तो मोती ,अनमोल है समयनहीं तो मिट्टी के मोल है समयकभी पाषाण सी कठोरता सा है समयकभी एकान्त नीरसता सा है समयसमय किसी को...

विनायक सावरकर: स्वर्णिम अध्याय का नाम

-डॉ. पवन सिंह मलिक "मैं तुम्हारे दर्शन करने आया हूँ मदन, मुझे तुम पर गर्व है. सावरकर तुम्हें मेरी आँखों में डर की परछाई तो...

भारत मे मदरसा शिक्षा का औचित्य

अनिल अनूप जब से मानव सभ्यता का सूर्य उदय हुआ है तभी से भारत अपनी शिक्षा तथा दर्शन के लिए प्रसिद्ध रहा है। यह सब...

चम्बल में डाकू म्यूजियम का औचित्य

यद्यपि चम्बल अंचल में डकैत समस्या समाप्त हो चुकी है किन्तु चम्बल से डकैतों के नाम एक चौंकाने वाला समाचार आया है | कहा जा...