Main Story

Editor’s Picks

Trending Story

ताज़ा समाचार (Latest News)

ऋषि दयानन्द ने सबसे पहले विद्रोह की आवाज उठाईः डा. सोमदेव शास्त्री

-मनमोहन कुमार आर्य श्रीमद् दयानन्द आर्ष ज्योतिर्मठ गुरुकुल पौन्धा, देहरादून में चल रहे सत्यार्थप्रकाश स्वाध्याय शिविर के तीसरे दिन 1 जून, 2016 केा डा. सोमदेव...

29 अगस्त को होगी आईआईएमसी की प्रवेश परीक्षा 9 अगस्त तक कर सकते हैं आवेदन

देश का सबसे प्रतिष्ठित मीडिया शिक्षण संस्थान है आईआईएमसी नई दिल्ली, 21 जुलाई। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) में आठ पीजी डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश...

मैं गांव गोद नहीं लूंगा : मिशन तिरहुतीपुर डायरी-8

विजयदशमी के दिन 26 अक्टूबर, 2020 को सुबह-सुबह गोविन्दाचार्य जी मेरे घर पर आ गए थे। जैसा कि मैं पहले बता चुका हूं, तिरहुतीपुर ग्राम...

“कर्स आफ नालेज” से बचने की कोशिश: मिशन तिरहुतीपुर डायरी-7

“कर्स आफ नालेज” से बचने की कोशिश कोरोना काल-1 में कई महीनों के चिंतन-मनन और पठन-पाठन के बाद 16 अक्टूबर, 2020 के दिन मैं पत्नी...

चरखा द्वारा “संजॉय घोष मीडिया अवार्ड्स 2020” सम्मान समारोह आयोजित

नई दिल्ली, (प्रेस रिलीज) चरखा डेवलपमेंट कम्युनिकेशन नेटवर्क ने शुक्रवार 16 जुलाई को " संजॉय घोष मीडिया अवार्ड 2020" सम्मान समारोह का ऑनलाइन आयोजन किया।...

पश्चिमी मीडिया ने की भारत में कोविड-19 महामारी की ‘पक्षपातपूर्ण’ कवरेज

नई दिल्ली, 16 जुलाई। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार 82 फीसदी भारतीय मीडियाकर्मियों की राय में पश्चिमी मीडिया...

साहित्य

प्रकृति से प्यार करो

---विनय कुमार विनायकप्रकृति से प्यार करो, थोड़ा सा उसे दो,औ अधिक से अधिक उससे से ले लो,प्रकृति की जड़-चेतन,सुप्त-जागृत चीजें,कभी भी इंसान सा कृतघ्न नहीं...

आदमी

कहीं खो गया है आभासी दुनिया में आदमीझुंठलाने लगा है अपनी वास्तविकता को आदमीपरहित को भूलकर स्वहित में लगा है आदमीमीठा बोलकर ,पीठ पर वार...

शरीर का घाव

कितना कष्टकारी होता है—शरीर के हिस्से का घावजिसे होता हैवह इसका दर्द जानता है।दर्द असह्य होता हैतब चला- फिरा नहीं जाता ;तब मित्र बार-बार सलाह...

नर और नारी की समानता का द्योतक है शिव का अर्धनारीश्वर स्वरूप

सोनम लववंशीयह सत्य है कि हम आधुनिक होती जीवनशैली और बाहरी चकाचौंध में अपने वास्तविक मूल्यों को दरकिनार कर रहे हैं। लेकिन हम भले ही...

आज मजहब के नाम इंसानियत खो रहा इंसान

---विनय कुमार विनायकआज मजहब के नाम इंसानियत खो रहा इंसान,आज मजहब के नाम क्रूर कट्टर हो रहा इंसान! धर्म और मजहब अलग-अलग चीज है रे...

ग्रेट बैरियर रीफ़ ‘खतरे में’, जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग बढ़ा रहे परेशानी

बात दुनिया भर में प्रति व्यक्ति ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन की हो तो इस उत्सर्जन के उच्चतम स्तरों वाले देशों में ऑस्ट्रेलिया एक प्रमुख नाम है।...

100 queries in 0.480