Main Story

Editor’s Picks

Trending Story

ताज़ा समाचार (Latest News)

स्टडी सेंटर का प्रयोग : डायरी-17

मिशन तिरहुतीपुर की गतिविधियों के कुल 9 आयाम हैं- मीडिया, इवेंट्स, इन्फ्रास्ट्रक्चर, संगठन, शिक्षा, कृषि, गैर कृषि उत्पादन, व्यापार और सेवाक्षेत्र। इनमें से कोई यदि...

बेसिक स्कूलों में खुश रहने की कला सिखाएगी योगी सरकार

पढ़ाई-लिखाई करके लोग मल्टीनेशनल कंपनियों में बड़े-बड़े पदों पर नौकरी करते हैं। बहुत से लोग बड़े उद्योग स्थापित कर रहे हैं। कोई बड़ा स्टार बन...

मीडियम’बदला है, ‘मीडिया’नहीं : प्रो. शुक्ल

''कोरोना काल के दौरान भाषाई पत्रकारिता में एक नई सभ्यता का जन्म हुआ है। इस दौर में डिजिटल मीडिया क्षेत्रीय अखबारों का सबसे बड़ा सहयोगी...

‘अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी दिवस सम्मान’ से विभूषित हुए योगेश कुमार गोयल

हिन्दी दिवस के अवसर पर गैर-हिन्दी भाषी क्षेत्र पश्चिम बंगाल से प्रकाशित होने वाली प्रतिष्ठित हिन्दी साहित्यिक पत्रिका ‘नव साहित्य त्रिवेणी’ द्वारा वरिष्ठ पत्रकार एवं...

जलवायु मुद्दे से जुड़ी भारत की 120 स्टार्टअप्स ने जुटाए 1.2 बिलियन डॉलर

इंपैक्ट इन्वेस्टर्स काउंसिल (आईआईसी), क्लाइमेट कलेक्टिव और अरेट एडवाइजर्स के एक ताजा अध्ययन के मुताबिक भारत में पिछले 5 वर्षों के दौरान जलवायु से जुड़े...

संयुक्त राष्ट्र जनरल असेंबली में जलवायु परिवर्तन पर सा‍र्थक संवाद अपेक्षित

आज, ग्लासगो क्लाइमेट समिट से बमुश्किल 50 दिन पहले संयुक्त राष्ट्र जनरल असेंबली (यूएनजीए) का 76वां सत्र शुरू हुआ है। इस बैठक से तमाम उम्मीदें...

साहित्य

राहुल की रामलीला

राहुल धरे है राम का रूप,कौशल्या किसे बनायेगे ?सोनिया जी तो घर में,कौशल्या उन्हें ही बनायेगे। लक्ष्मण जी किसकी नाक काटेगे सूपनखा किसे बनायेगे ?कांग्रेस...

पंडित उपाध्याय विचार ही नहीं, व्यक्ति-क्रांति के प्रेरक

पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म जयन्ती- 25 सितम्बर, 2021-ललित गर्ग- एकात्म मानव दर्शन के प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय बीसवीं सदी के वैचारिक युगपुरुष थे, वे अजातशत्रु...

भागलपुर ने दी राष्टकवि दिनकर को ख्याति

(जन्मदिन 23 सितम्बर पर विशेष)कुमार कृष्णनभागलपुर से ही राष्टकवि रामधारी सिंह दिनकर को ख्याति मिली।इसे उन्होंने स्वयं स्वीकार किया है।उनके मुताबिक-" 1933 में सुप्रसिद्ध इतिहासकार...

अगर तू नही है,जिंदगी में खालीपन रह जायेगा,

अगर तू नही है,जिंदगी में खालीपन रह जायेगा,दूर तक तन्हाइयों का,एक सिलसिला रह जायेगा। सुबह भी होगी,सूरज भी निकलेगा हर रोज,पर ये तेरा फूल,हमेशा अधखिला...

एक मानव ही पशुता का अनुसरण करते

---विनय कुमार विनायकजब भी किसी ने गाया जिंदगी के गाने,तब-तब कुछ कुत्ते शुरू करते हैं रिरियाने! लेकिन क्या ऐसे में बंद कर दोगे बंधुवर,छेड़ना इंसानियत...

श्राद्ध कर्म का विज्ञान

प्रमोद भार्गव जीवन का अंतिम संस्कार अंत्योष्टि संस्कार है। इसी के साथ जीवन का समापन हो जाता है। तत्पश्चात भी अपने वंश के सदस्य की...

42 queries in 0.466