केंद्र की ‘तानाशाही’ प्रवृत्ति है : केजरीवाल

केंद्र की ‘तानाशाही’ प्रवृत्ति है : केजरीवाल
केंद्र की ‘तानाशाही’ प्रवृत्ति है : केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि भाजपा नीत केंद्र सरकार अपनी ‘‘घोर तानाशाही’’ प्रवृत्ति के कारण सब कुछ ‘‘नियंत्रित’’ करना चाहती है। उन्होंने साथ ही कहा कि वह भोजन भी अपनी मर्जी से कर सकते हैं या नहीं? केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘क्या मैं अपनी पसंद का भोजन कर सकता हूं? घोर तानाशाही प्रवृत्ति। वे सबकुछ नियंत्रित करना चाहते हैं।’’ वह उन रिपोटरें का जिक्र कर रहे थे कि गृह मंत्रालय ने उन्हें लिखे एक पत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री के पास निलंबन आदेश स्वयं जारी करने के अधिकार नहीं है।

मुख्यमंत्री ने अपने प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार को हाल में निलंबित करने का आदेश जारी किया था। कुमार को सीबीआई ने भ्रष्टाचार के आरोपों के तहत गिरफ्तार किया है।

सरकार के नियमानुसार 48 घंटे से अधिक समय तक पुलिस की हिरासत में रहने वाला आईएएस अधिकारी स्वत: ही ‘‘निलंबित माना जाता है।’’ केजरीवाल ने नवजोत सिंह सिद्धू के राज्यसभा से इस्तीफा देने की ओर इशारा करते हुए ट्वीट किया कि भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के ‘‘तानाशाही वाले रवैये’’ के कारण ईमानदार लोग पार्टी के भीतर ‘‘घुटन’’ महसूस कर रहे हैं।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के तानाशाही वाले रवैये के कारण ईमानदार एवं भले लोग पार्टी में बहुत घुटन महसूस कर रहे हैं।’’ उन्होंने राज्यसभा की सदस्यता छोड़ने के फैसले को लेकर कल सिद्धू को ‘‘सलाम’’ किया था।

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

%d bloggers like this: