भारत ने प्रक्षेपित किया अपना खुद का ‘अंतरिक्ष यान’

भारत ने प्रक्षेपित किया अपना खुद का ‘अंतरिक्ष यान’
ने प्रक्षेपित किया अपना खुद का ‘

भारत ने आज स्वदेशी आरएलवी यानी पुन: प्रयोग किए जा सकने वाले प्रक्षेपण यान के पहले प्रौद्योगिकी प्रदर्शन का के से सफल प्रक्षेपण कर लिया है। आरएलवी पृथ्वी के चारों ओर कक्षा में उपग्रहों को प्रक्षेपित करने और फिर वापस वायुमंडल में प्रवेश करने में सक्षम है।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन :इसरो: के प्रवक्ता ने आरएलवी-टीडी एचईएक्स-1 के सुबह सात बजे उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद पीटीआई भाषा को बताया, ‘‘अभियान सफलतापूर्वक पूरा किया गया।’’ यह पहली बार है, जब इसरो ने पंखों से युक्त किसी यान का प्रक्षेपण किया है। यह यान बंगाल की खाड़ी में तट से लगभग 500 किलोमीटर की दूरी पर उतरा।

हाइपरसोनिक उड़ान प्रयोग कहलाने वाले इस प्रयोग में उड़ान से लेकर वापस पानी में उतरने तक में लगभग 10 मिनट का समय लगा।

आरएलवी-टीडी पुन: प्रयोग किए जा सकने वाले प्रक्षेपण यान का छोटा प्रारूप है।

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

%d bloggers like this: