Posted On by &filed under राजनीति.


sanjay rathoreभारतीय जनता पार्टी की गुजरात यूनिट मे्ं आईटी सेल के एक मेंबर संजय राठौड़ ने कहा है कि बीजेपी मेंबर होने के नाते मुझे अपना ओपिनियन देने का हक है। भारत के लोगों जाग जाओ वरना बहुत देर हो जाएगी। कई बड़ी ताकतें हैं जो देश को तोड़ना चाहती हैं। वो एंटी नेशनल लोगों को फंडिंग करने के साथ ही मीडिया को भी पैसा दे रही हैं। संजय राठौड़ ने मंगलवार को विवादास्पद ट्वीट किया है। जूनागढ़ यूनिट में काम करने वाले संजय राठौड़ ने ट्वीट में कहा कि विरोध कर रहे स्टूडेंट्स और टीचर्स को गोली मार देनी चाहिए चैप्टर क्लोज हो जाएगा। इसे हैशटैग वेकअप इंडिया पर ट्वीट किया गया। लेकिन दिक्कत यह है कि हमारी सरकार कुत्तों को भी मारने की इजाजत नहीं देती।

एक और ट्वीट जो हिंदी में किया गया था संजय राठौड़ ने लिखा कि कल से जो 10 आतंकवादी गुजरात में घुसे हैं। उनमें से कौन किसका बेटा बेटी बहू है। ये अभी तय हो जाना चाहिए। बाद में इशरत जहां की तरह लफड़ा नहीं चाहिए।

एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में संजय ने कहा कि बीजेपी मेंबर होने के नाते मुझे अपना ओपिनियन देने का हक है। ये पार्टी से अलग भी हो सकता है। मैं उन लोगों का भी समर्थन करता हूं जो मेरी तरह सोचते हैं।

राठौड़ा के टिवटर पर 1-19 लाख फॉलोअर हैं। इसमें गुजरात के साइंस एंड टेक्नोलॉजी मंत्री गोविंद पटेल शामिल हैं। संजय ने प्रोफाइल में खुद को सोशल मीडिया एक्सपर्ट और गुजराती टीवी का डायरेक्टर बताया है। इसी प्रोफाइल में उन्होंने खुद को बीजेपी की जूनागढ़ यूनिट की आईटी सेल का मेंबर और भारतीय जनता युवा मोर्चा का एक्टिव मेंबर बताया है।

उनके होमपेज पर दो फोटोग्राफ में वो नरेंद्र मोदी के साथ नजर आते हैं। गुजरात सरकार ने 2012 में उन्हें सबसे बड़ा फेसबुक ग्रुप 16 लाख मेंबर्स बनाने के लिए अवॉर्ड भी दिया था। संजय ने अंत में कहा कि अगर किसी को दुख हुआ है तो मैं वो ट्वीट डिलीट कर देता हूं। इसके बाद संजय ने ट्वीट को डिलीट कर दिया।

One Response to “क्या देश विरुद्ध कोई साजिश रची जा रही है ?”

  1. Himwant

    अगर आप राजनीति में है तो आपको गैर राजनितिक शैली में बात नही कहनी चाहिए. कई बारे बाते यथार्थ में सही होते हुए भी पोलिटिकली गलत होती है. अच्छा राजनेता युक्तिपूर्वक बात रखता है जो साप भी मर जाए और लाठी भी ना टूटे.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *