Posted On by &filed under आर्थिक.


इनफोसिस ने कहा: अमेरिका में नियुक्तियां करने से भारत में प्रभावित नहीं होगी उसकी भर्ती योजना

इनफोसिस ने कहा: अमेरिका में नियुक्तियां करने से भारत में प्रभावित नहीं होगी उसकी भर्ती योजना

आईटी क्षेत्र की बड़ी कंपनी इनफोसिस ने आज कहा कि अमेरिका में भर्तियों से भारत में उसकी भर्ती योजना प्रभावित नहीं होगी। उसने यहां कैंपस में 19,000 भर्तियों करने की योजना निकाली है। बेंगलुरु की कंपनी ने कहा है कि वह अगले कुछ सालों में अमेरिका में 10,000 भर्तियों करने को कटिबद्ध है लेकिन वह दो तिमाहियों से भी कम अवधि में भारत में इतने ही कर्मचारियों की भर्ती करती है।

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्का ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘भारत में निश्चित ही भर्तियों की रफ्तार नहीं घटी है। हमने दो सालों में अमेरिका में 10,000 भर्तियां करने की बात कही है, हम दो तिमाहियों से भी कम अवधि में भारत में 10,000 भर्तियां करते हैं।’’ इंफोसिस के सीओओ यूबी प्रवीण राव ने कहा कि अप्रैल-जून, 2017 की तिमाही में 1,000 से अधिक लोगों ने इंफोसिस में नौकरी पायी है।

राव ने कहा, ‘‘हमने इस साल 19,000 लोगों :प्रशिक्षुओं: को नौकरी की पेशकश की है। हमें 12000-13000 लोगों के कंपनी से जुड़ने की उम्मीद है। अमेरिका में भर्तियों करने से भारत में हमारी भर्ती प्रभावित नहीं हो रही है। ’’ जून तिमाही की समाप्ति पर इनफोसिस में कर्मचारियों की कुल संख्या 1,98,553 रही है। हालांकि यह संख्या मार्च तिमाही के मुकाबले 1,811 कम है।

इनफोसिस के मुख्य वित्तीय अधिकारी प्रबंध निदशेक रंगनाथ ने कहा कि कंपनी ने विभिन्न स्तरों पर प्रदर्शन आधारित ‘‘अच्छी वेत्नेत्तर वृद्धि’’ की है। इसका कंपनी के मार्जिन पर करीब एक प्रतिशत तक असर पड़ा है। उन्होंनें कहा कि कंपनी वेतन वृद्धि इस माह से लागू करेगी। हालांकि उन्होंने इसकी मात्रा के बारे में कुछ नहीं कहा।

( Source – PTI )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *