Posted On by &filed under आर्थिक, राजनीति.


greeceग्रीस को ऋण संकट से उबारने के उद्देश्य से कराए गए जनमत संग्रह में जनता ने यूरोपीय संघ की ओर से प्रस्तावित बेलआउट की शर्तों को अस्वीकार कर दिया है । देश के 61 प्रतिशत से भी अधिक लोगों ने बेलआउट की शर्तों को नकारने के पक्ष में अपना मत दिया। वहीं 39 प्रतिशत लोगों ने इसके पक्ष में वोट डाले हैं।

सरकार ने बेलआउट शर्तों को ‘नकारने के लिए मत डालने की अपील की थी । जनमत संग्रह के अंतिम परिणाम आते ही ग्रीस की सड़कों पर जश्न का दौर शुरू हो गया । हजारों की संख्या में लोग यूरोपीय संघ के प्रस्तावित बेलआउट की शर्तों को नकारे जाने पर खुशी में सराबोर हो गए । ग्रीस के पूर्व प्रधानमंत्री एवं प्रमुख विपक्षी कंजर्वेटिव पार्टी के एंटोनिस समरास ने परिणामों के बाद पार्टी प्रमुख पद से त्यागपत्र दे दिया ।

ग्रीस की द्वारा दिए गए जनमत संग्रह के बाद यूरोप की एकीकृत मुद्रा यूरो में भी गिरावट दर्ज की गई । मतगणना के बाद प्रधानमंत्री एलेक्सिस सिप्रास ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मुझे पता है कि आप लोगों ने मुश्किल और विपरीत परिस्थितियों में एक बहादुरी भरा फैसला किया है।साथ देने के लिये सबका शुक्रिया। उधर दूसरी ओर विपक्षियों का मानना है कि बेलआउट की शर्तों को नकारने से ग्रीस को यूरोजोन से बाहर होने का खतरा उठाना पड़ सकता है जिससे देश की मुसीबतें और भी अधिक बढ़ जाएंगी।

ग्रीस सरकार ने यूरोपीय संघ की ओर से पेश बेलआउट पैकेज की शर्तों की आलोचना करते हुए इसे ‘अपमानजनक करार दिया है। एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि शर्तों को नकारने से देश को गंभीर ऋण संकट से उबारने की नई बातचीत में उन्हें अधिक लाभ मिल सकता है।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz