Posted On by &filed under राजनीति, समाज.


pm-modi-budget-session_650x400_71425036520

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पिछले दिनों जो सदन में हुआ, उससे देश पीडित है। इसलिए बहस के दौरान सदन की गरिमा बनी रहनी चाहिए। कई मुद्दों पर सरकार को अपने पक्ष में सफाई देनी होती है। पीएम ने नेहरू, राजीव के भाषणों का भी जिक्र किया। राजीव गांधी ने भी एक बार कहा था कि सदन की गरिमा बनी रहे। उन्‍होंने ने कहा था कि सबको अपनी बात रखने का मौका मिले। ये बोल मेरे नहीं है बल्कि पूर्व पीएम राजीव गांधी के हैं और हमें अपने बड़ों की बात जरूर माननी चाहिए। पीएम ने कहा कि सदन नहीं चलने से देश और सांसदों का नुकसान हो रहा है। सदन नहीं चलने के पीछे हीनभावना कारण है। हीनभावना के चलते संसद बाधित हो रही है। क्‍योंकि विपक्ष में कई होनहार सांसद हैं, जिन्‍हें सुनना काफी लाभदायी है। लेकिन उन्‍हें बोलने का मौका नहीं मिलता है। राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर धन्‍यवाद प्रस्‍ताव पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कांग्रेस पर जमकर प्रहार किए।उन्होने लोकसभा में कहा कि मैं राष्‍ट्रपति का धन्‍यवाद करता हूं। ये जनता की आशाओं को पूरा करने का प्रयास है। सभी सांसदों की तरफ से हम स्‍पीकर महोदय का भी धन्‍यवाद करते हैं। हमें स्‍पीकर की सलाह माननी चाहिए। स्‍पीकर ने पिछले कई महीनों में कई नई पहल की हैं।

अहम बिल पास कराने के लिए सांसदों को न्‍यौता

पीएम ने संसद में अहम बिल पास कराने के लिए सांसदों को न्‍यौता देते हुए कहा कि प्रशासन को जवाबदेह बनाने वाले बिल में सहयोग करने की अपील की। पीएम ने जीएसटी बिल को लेकर कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि जीएसटी बिल पास कराने से रोका जा रहा है। संसद के बिल लोकतंत्र के बुनियाद को मजबूत बनाने के लिए होते हैं। संसद के बिल इसलिए कि सिस्‍टम के दलालों को दूर किया जा सके।  सिस्‍टम से दलालों को खत्‍म करने के लिए यह बिल जरूरी है। पीएम ने कहा कि देशहित के तमाम बिल लटके पड़े हैं। इसलिए बिल पास कराने में विपक्ष सहयोग करें। जीएसटी बिल भी आपका (कांग्रेस) ही है। सदन की बैठकों को रोकना और बिलों को पास कराने से रोकना विकास में बाधा डालना है। सदन न चलने से विपक्ष का ज्‍यादा नुकसान होता है। सदन के न चलने से देश पीडित है।

 

विपक्ष पर हुए हमलावर

पीएम बोले कि मैं सफल नहीं हुआ तो आपने क्‍या जवाब दिया। देश की कुछ समस्‍याएं आज विपक्ष की ही देन है। कुछ बातें विपक्ष की देन है, जिसे हमारी देन बताया जाता है। बांग्‍लादेश सीमा विवाद आपकी (कांग्रेस) ही देन है। 18000 गांवें अब तक अंधेरे में डूबी हैं, आपने अब तक क्‍या किया। अगर आप टॉयलेट बना देते तो आज हमें ये नहीं बनाना पड़ता। आपके शौचालय नहीं बनाने पर हमने बनाए। खाद्य सुरक्षा कानून के लिए कांग्रेस जिम्‍मेदार है। कांग्रेस शासित 4 राज्‍यों में खाद्य सुरक्षा का नामोनिशान नहीं है। इसकी दुर्दशा के लिए कांग्रेस जिम्‍मेदार है।

 

राहुल गांधी पर साधा निशाना

उन्‍होंने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोगों की उम्र बढ़ती है लेकिन समझ नहीं।  संसद में कुछ लोग मनोरंजन भी करते हैं। पीएम ने कांग्रेस पर प्रहार जारी रखते हुए कहा कि कांग्रेस ने गरीबी की ऐसी जड़ें जमाई हैं, जिसे खत्‍म करना मुश्किल है। मैं आज जमी हुई गरीबी की जड़ों को उखाड़ रहा हूं। आज गरीबी नहीं होती तो मनरेगा की जरूरत नहीं पड़ती। मनरेगा में भ्रष्‍टाचार की बात पर सहमति जताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इन योजनाओं की कमियों से सीखते हुए हमने कुछ नई पहल की हैं। हमने मनरेगा की कमी को दूर किया है। मनरेगा में भ्रष्‍टाचार की बात से सहमत हूं। मनरेगा में किसी एक मजदूर को कभी 100 दिन का भी काम नहीं मिला। मनरेगा में भ्रष्‍टाचार है, सीएजी में रिपोर्ट में भी यह बात सामने आई है।

 

आलोचना कमियों की नही ,ईष्या की वजह से

मोदी ने कहा कि हमारी आलोचना कमियों की वजह से नहीं, बल्कि ईष््‍या की वजह से। कांग्रेस को हमारे अच्‍छे कामों की वजह से जलन है। हमारे अच्‍छा काम करने से विपक्ष चिंतित है। केंद्र से अब राज्‍यों को अधिक वित्‍तीय संसाधन और वित्‍तीय मदद दिए जा रहे हैं।राहुल के अध्‍यादेश फाड़ने को लेकर भी पीएम ने निशाना साधा और कहा कि  उपदेश फाड़ वरिष्‍ठ नेताओं के फैसले का अपमान है। इससे आप मीडिया में छा सकते हैं लेकिन हासिल कुछ नहीं होगा। कुछ लोगों को बातें देर से समझ में आती हैं। कुछ लोगों को नई योजनाएं समझ में नहीं आती हैं। उपदेशक खुद उपदेश का पालन नहीं करते। आजकल उपदेश देने वालों का तादाद बढ़ रही है। हम एक दूसरे का मजाक उड़ाएंगे तो तालियां जरूर बजेंगी। देश को अफसरशाही के भरोसे नहीं छोड़ सकते। देश के सवा सौ करोड़ नागरिकों पर भरोसा करना ही होगा।

महिला दिवस पर सिर्फ महिला सांसद ही बोलें

पीमए ने यह भी कहा कि 8 मार्च को महिला दिवस पर सिर्फ महिला सांसद ही बोलें। एक हफ्ता तय हो जिसमें सिर्फ नए सांसद ही बोलें। पीएम ने कहा कि 14 साल से मुझे प्रमाणपत्र दिया जा रहा है।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz