नहीं पड़ेगी जरुरत टोकन या स्मार्ट कार्ड की अब स्मार्टफोन से चुकाएं मेट्रो का किराया

नई दिल्लीः मेट्रो की एयरपोर्ट लाइन पर सफर के लिए 16 सितंबर से टोकन या स्मार्ट कार्ड की जरूरत नहीं पड़ेगी। स्मार्टफोन से ही किराया चुकाया जा सकेगा।

डीएमआरसी इस लाइन के सभी छह स्टेशनों पर क्यूआर कोड स्कैन करके किराया भुगतान की सुविधा शुरू करने जा रहा है। यात्री को इसके लिए अपने स्मार्ट फोन पर रिडलर (आरआईडीएलआर) मोबाइल एप डाउनलोड करना होगा। क्यूआर कोड वाला टिकट बनाने के लिए यात्री को स्टेशन जाने की जरूरत नहीं है। वह अपने फोन पर रिडलर एप के जरिए जब चाहे एक स्टेशन से गंतव्य स्टेशन तक का क्यूआर कोड वाला टिकट बना सकता है।

हालांकि, इसका प्रयोग उसे उसी दिन करना होगा। अगले दिन वह क्यूआर कोड मान्य नहीं होगा। डीएमआरसी ने प्रत्येक स्टेशन पर क्यूआर कोड स्कैन कर प्रवेश और निकास के लिए दो एएफसी (ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन) गेट लगाए गए हैं। डीएमआरसी इसपर बीते तीन माह से ट्रायल कर रहा था।

किराए का भुगतान इस तरह कर सकेंगे
स्मार्टफोन पर आरआईडीएलआर एप में डीएमआरसी पर क्लिक करने के बाद क्यूआर टिकट पर क्लिक करना होगा। इसके बाद सभी छह स्टेशन के नाम मोबाइल स्क्रीन पर आ जाएंगे। इससे सफर शुरू करने वाले और गंतव्य स्टेशन का चुनाव करने के बाद मोबाइल स्क्रीन पर किराया दिखने लगेगा। इसके बाद पे विकल्प पर क्लिक करके डेबिट या क्रेडिट कार्ड को लिंक कर भुगतान हो सकेगा। इसके बाद एक क्यूआर कोड वाला टिकट जेनरेट हो जाएगा। मोबाइल के स्क्रीन पर उस क्यूआर कोड को नए लगे एएफसी गेट पर प्रवेश व निकास के समय दिखाना होगा।

%d bloggers like this: