पाकिस्तान :गिलगित-बाल्टिस्तान के लिए पाक ने चली चाल

नई दिल्लीः पाकिस्तान सरकार ने गिलगित बाल्टिस्तान क्षेत्र की कानूनी स्थिति की समीक्षा के लिए गुरुवार को एक समिति का गठन किया। भारत इस क्षेत्र को जम्मू कश्मीर का हिस्सा मानता है। विवादित गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पाकिस्तान अपने पांचवें प्रांत के रूप में घोषित करने की योजना बना रहा है। भारत इसका जोरदार विरोध कर रहा है। इसे उत्तरी क्षेत्र के रूप में भी जाना जाता है।

पाकिस्तान सरकार ने 10 सदस्यीय समिति का गठन प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार की अध्यक्षता वाली उच्चतम न्यायालय की सात न्यायाधीशों की पीठ के अक्तूबर के निर्देश के मद्देनजर किया है। शीर्ष अदालत ने क्षेत्र की कानूनी स्थिति की समीक्षा करने का निर्देश दिया था ताकि इसे पाकिस्तान के अन्य प्रांतों के बराबर लाया जा सके।

अनुच्छेद 370 का भी जिक्र

शीर्ष अदालत का निर्देश क्षेत्र में संवैधानिक और प्रशासनिक सुधारों के लिए तत्कालीन नवाज शरीफ सरकार द्वारा गठित विशेष समिति की सिफारिशों के बाद आया है। पीठ के एक सदस्य ने आश्चर्य जताया कि अगर भारत ने संविधान के अनुच्छेद 370 को शामिल करके जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिया है तो पाकिस्तान गिलगित बाल्टिस्तान को अस्थायी प्रांत का दर्जा क्यों नहीं दे सकता।

%d bloggers like this: