Posted On by &filed under आर्थिक, मीडिया, समाज, सोशल-मीडिया.


29JAN1 हरियाणा चार्टड एसोसिएशन ऑफ फिजियोथैरेपिस्ट का लाइफ कायरोपेक्टिक कॉलेज वेस्ट कैलिफोर्निया (अमेरिका) के साथ करार हुआ है। जिसके तहत भविष्य में लाइफ कायरोपेक्टिक कॉलेज एसोसिएशन के सदस्यों को कायरोपेक्टिक की आधुनिकतम तकनीकें सांझा करेगी। इससे फिजियोथैरेपिस्टों की कार्यकुशलता में वृद्धि होगी। यह जानकारी देते हुए एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. आर.के. मुदगिल ने बताया कि यह करार हाल ही में मुम्बई में आयोजित 49वां निरंकारी संत समागम के दौरान हुआ है। डॉ. आर.के. मुदगिल ने बताया कि एसोसिएशन की तरफ से तीन सदस्यीय दल जिनमें वे स्वयं, डॉ. अमित वत्स एवं डॉ. पुष्पेन्द्र राणा ने भाग लिया। वहीं लाइफ कायरोपेक्टिक कॉलेज की तरफ से कनाडा से आये मशहूर कायरोपेक्टिक डॉ. जिम्मी नंदा के नेतृत्व में आये 60 डाक्टर्स के साथ चार दिनों तक मिलकर मैनुअल थैरेपी द्वारा 7200 मरीजों के रोगों की जांच एवं उपचार किया गया। इसके अलावा वहां सभी को काफी कुछ सीखने को मिला।
डॉ. आर.के. मुदगिल ने बताया कि उन्होंने इंडियन एसोसिएशन ऑफ कायरोपैक्ट्कि डाक्टर्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. कल्पेश गहलानी द्वारा समागम के दौरान उनके साथ काम करने का निमंत्रण मिला था। वहां काम करना सभी के लिये काफी अच्छा अनुभव रहा। साथ ही साथ भविष्य में दोनों एसोसिएशनों द्वारा एक साथ काम करने के लिए करार भी किया क्योंकि दोनों ही चिकित्सा विद्याएं सिर्फ मैनुअल थैरेपी द्वारा मरीजों को बिल्कुल ठीक कर देती हैं और विदेशों में कायरोपैक्ट्कि डॉक्टर्स की काफी मांग है।
डॉ. मुदगिल ने बताया कि निरंकारी समागम के दौरान जो यह भव्य आयोजन हुआ वह निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी के सेवा समर्पण के नारे को पूर्ण रूप से सत्यार्थ कर रहा है। इस दौरान भाग लेने वाले सभी डॉक्टरों ने अपनी सेवायें स्वयंसेवी के तौर पर दी। बाबा हरदेव सिंह जी के उपदेशों और विचारों को साकार करते हुए ये निरंकारी संत समागम नित नये आयाम छूता जा रहा है। मानवता से भरपूर विशाल मानव परिवार दिन-रात ‘वल्र्ड विदाउट वॉल’ को साकार करने में लगा है। आज के इस ईष्र्या भरे माहौल में संत-महात्माओं के इस तरह के प्रायोजन तपती धूप में ठंडी छाया के समान हैं जोकि सम्पूर्ण विश्व को शीतला प्रदान करते हैं। समागम के दौरान स्वास्थ्य सेवाओं एवं अध्यात्म का अनूठा संगम देखने को मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *