Posted On by &filed under राजनीति.


क्या के.एम. मणि की विजय गाथा बरकरार रहेगी?

क्या के.एम. मणि की विजय गाथा बरकरार रहेगी?

केरल कांग्रेस :एम: के प्रमुख और पूर्व वित्त मंत्री के.एम. मणि पाला विधानसभा क्षेत्र से रिकार्ड 13वीं बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। मणि इस क्षेत्र से पिछले 12 चुनाव जीत चुके हैं। केरल में 16 मई को विधानसभा चुनाव होने हैं।

केरल के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक 83 वर्षीय मणि राज्य विधानसभा में विधायक के तौर पर स्वर्ण जयंती बनाने वाले चुनिंदा लोगों में से एक हैं। उन्होंने कोट्टयम जिले में पाला से पहली बार 1965 में चुनाव जीता। इसके बाद वह 1967, 1970, 1977, 1980, 1982, 1987, 1991, 1996, 2001, 2006 और 2011 में हुए सभी चुनाव में विजयी रहे।

एलएलबी डिग्री धारी मणि के नाम केरल विधानसभा में सबसे अधिक संख्या में बजट पेश करने का भी रिकार्ड है। हालांकि अपने चुनावी करियर में कभी भी हार का मुंह नहीं देखने वाले मणि को पिछले साल वित्त मंत्री के तौर पर अप्रत्याशित राजनीतिक संकट का सामना करना पड़ा और नवंबर, 2015 में बार घूसखोरी घोटाले में आरोपों के बाद उन्हें मंत्रिपद त्यागना पड़ा।

मध्य त्रावणकोर स्थित पाला में बड़ी संख्या में रोमन कैथलिक आबादी है और यह रबड़ किसानों का भी गढ़ है। अपने प्रतिद्वंद्वियों द्वारा आलोचनाओं और आरोपों के बावजूद राजनीतिक क्षेत्र के दिग्गज को इस बार भी मणि की जीत को लेकर कोई संदेह नहीं है।

वहीं दूसरी ओर, मणि के मुख्य प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार और एलडीएफ-एनसीपी के मणि सी. कप्पन को इस विधानसभा क्षेत्र में इतिहास रचने की उम्मीद है। कप्पन एक प्रसिद्ध फिल्मी हस्ती हैं।

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz