निजी ज़िंदगी में दखल देने का किसी को हक़ नहीं, रोहित शर्मा

नई दिल्ली: ब्रिटेन दौरे के लिए वनडे टीम के खिलाड़ियों ने 15 जून को यो-यो टेस्ट दिया था,जिसमे रोहित शामिल नहीं हुए थे,जिस कारण कुछ मीडिया संस्थानों ने रोहित की आलोचना शुरु कर दी, रोहित ने निजी प्रतिबद्धता के कारण बीसीसीआई से 15 जून को इस टेस्ट में भाग नहीं लेने के लिए अनुमति ली थी. बीसीसीआई के महाप्रबंधक (क्रिकेट परिचालन) सबा करीम ने पीटीआई से कहा, ‘रोहित के लिए 15 जून को यो-यो टेस्ट देना अनिवार्य नहीं था क्योंकि उन्होंने पहले से मंजूरी ली थी.’ रोहित ने सोशल मीडिया पर जानकारी दी कि उन्होंने बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में टेस्ट पास कर लिया है. रोहित ने अपनी फिटनेस पर सवाल उठाने वाले मीडिया के एक वर्ग पर निशाना भी साधा.
उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं अपना समय कहां और कैसे बिताता हूं इस बारे में किसी को दखल देने का हक नहीं है. जब तक मैं नियमों का पालन करता हूं तब तक मुझे अपने तरीके से समय बिताने का अधिकार है. असल मुद्दों पर चर्चा करिए. कुछ चैनलों को मैं बताना चाहूंगा कि यो-यो टेस्ट में सफल होने के लिए मुझे एक मौका मिला जो आज था.’

Leave a Reply

%d bloggers like this: