वैकल्पिक राजनीति खडी करने में विफल रही आम आदमी पार्टी – योगेन्द्र यादव

yogendra-yadav
भुवनेश्वर, 14 मई। अन्ना आंदोलन के बाद उससे प्राप्त ऊर्जा से गठित आम आदमी पार्टी से लोगों में आस बनी थी। पार्टी दिल्ली की लोकसभा चुनाव में प्रदर्शन असरदार तो रहा लेकिन पूरे देश में इसका फैलाव व वैकल्पिक राजनीति देने में यह असफल हो रही है । इसलिए जब समस्त मौजुदा राजनीतिक पार्टियां परिवर्तन के लिए अप्रासंगिक हो रहे हैं, ऐसे में पूरे देश में वैकल्पिक राजनीति खडी करने के लिए स्वराज अभियान कार्य करेगा । आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे ने यह बात कही । स्थानीय लोहिया अकादमी में स्वराज अभियान के कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं से संवाद करते हुए उन्होनें यह बात कही ।श्री यादव ने कहा कि अन्ना आंदोलन के समय पूरे देश में एक अभूतपूर्व माहौल बना था । उस आंदोलन में समाज के विभिन्न वर्गों से लोग आये थे और इससे प्राप्त ऊर्जा से देश को वैकल्पिक राजनीति प्रदान किया जा सकता है इस तरह का विश्वास लोगों में पैदा हुआ था । आम तौर पर जन आंदोलनों से ऊभरे राजनीतिक पार्टियां चुनाव में असरदार नहीं होती । उन्हें चुनाव जीतने के लिए आवश्यक समर्थन लोगों से प्राप्त नहीं होता है । लेकिन अन्ना आंदोलन की ऊपज आम आदमी पार्टी चुनाव में असरदार रही । आम आदमी पार्टी का मूल उद्देश्य चुनाव में असरदार होने के साथ साथ पूरे देश में संगठन को खडा करना तथा देश की जनता को वैकल्पिक राजनीति प्रदान करना था । जब आम आदमी पार्टी सत्ता में आ गई तब बाकी दो चीजों पर काम नहीं हुआ । पार्टी को संचालित करने वाले लोगों ने पार्टी को दिल्ली तक सीमित रखने का निर्णय किया तथा सिद्धांतों से यह कहते हुए समझौता किया कि क्योंकि अब पार्टी राजनीति में है , इसलिए आम आदमी पार्टी को भी पुराने राजनीतिक पार्टियों की तरह विभिन्न हथकंडे अपनाने पडेंगे। चुनाव जीतने के लिए वह सारे काम करने होंगे जो अन्य राजनीतिक दल करते रहे हैं। इसके साथ ही वहां भी हाइकमांड की संस्कृति पनपी । सिद्धांतों के बजाय व्यक्तिपूजा हावी हो गई। वैकल्पिक राजनीति देने के मामले में समझौता किया गया ।श्री यादव ने कहा कि जैसे राष्ट्रीय राजमार्ग से चलते हुए पथचारी उससे सटे किसी मार्ग पर चला जाता है, ऐसे ही आम आदमी पार्टी के साथ हुआ । उन्होंने प्रसिद्ध समाजवादी चिंतक किशन पटनायक को याद करते हुए कहा कि वह कहा करते थे कि जन आंदोलनों से प्राप्त ऊर्जा सें वैकल्पिक राजनीति देश को दी जा सकती है । उन्होंने कहा स्वराज अभियान इसी दिशा में कार्य कर रहा है ।श्री यादव ने कहा कि स्वराज अभियान के कार्यकर्ताओं को मर्यादा में रहना होगा । यहां किसी की व्यक्तिपूजा नहीं होगी। हां यह अलग बात है कि चुनाव के दौरान प्रत्याशियों को फोटो छापने होते हैं ताकि अधिक से अधिक लोग उन्हें जान सकें । इस तरह से फोटो छापा जा सकता है । लेकिन व्यक्तिपूजा की पंरपरा यहां विकसित नहीं होगी । लोकतांत्रिक व सामुहिक रूप से निर्णय लिये जाएंगे । दिल्ली से य़ा भुवनेश्वर से किसी प्रकार का निर्णय थोपा नहीं जाएगा । वालेटियर जो पदाधिकारी नहीं है उनकी बातों को सुनने के व्यवस्था की जाएगी ।श्री यादव ने कहा कि स्वराज अभियान की ओर से विभिन्न स्थानों पर स्वराज केन्द्र बनाने का प्रस्ताव है जिसमें लोगों के छोटी छोटी समस्याओं का समाधान करने में मदद दी जाएगी। स्वराज अभियान द्वारा विकल्प विचार के लिए न्योता दिया जाएगा । किसानों का सवाल सबसे बडा सवाल होने के कारण किसानों के साथ बातचीत कर जनजागरण किये जाने का प्रस्ताव है । इसके अलावा पूरे देश में यात्रा निकाली जाएगी ताकि नये लोगों को इस आंदोलन के साथ जोडे जा सकें ।उन्होंने कहा कि पिछले दो सालों में जो कुछ भी हुआ और जिस बिंदु पर हम खडे हैं वह कोई सुंदर सपना का दुखांत नहीं है बल्कि एक कठिन व लंबी यात्रा का प्रारंभ है ।इस अवसर पर स्वराज अभियान के ओडिशा के नेता लिंगराज व अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित थे । प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से आये हुए कार्यकर्ताओं के साथ श्री यादव ने संवाद करने के साथ साथ उनके प्रश्नों का उत्तर दिया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: