नकदीरहित भुगतान के बारे में जागरुक करने के लिए ‘डिजिटल रथ’

नकदीरहित भुगतान के बारे में जागरुक करने के लिए ‘डिजिटल रथ’
के बारे में जागरुक करने के लिए ‘डिजिटल रथ’

के एक साल में में आयी तेजी की खुशी मनाने और दुकानदारों को नकदी रहित लेन-देन के बारे में जागरुक करने के उद्येश्य से आज राजधाीन में एक ‘डिजिटल रथ’ को केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

अभियान के तहत कार्ड भुगतान की सुविधा देने वाली कंपनी मास्टरकार्ड 31 दिसंबर तक 10 लाख दुकानदारों तक पहुंच बनाकर उन्हें इस संबंध में जागरुक करेगी। यह अभियान लखनऊ, कोलकाता, पुडुच्चेरी, नवी मुंबई और भोपाल समेत कई शहरों में चलाया जाएगा।

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ने आज नोटबंदी की पहली वर्षगांठ पर इस ‘डिजिटल रथ’ को रवाना किया। इस मौके पर उन्होंने नोटबंदी के बाद डिजिटल लेनदेन को अपनाने में देश के लोगों और व्यापारियो की भूमिका का विशेष उल्लेख किया।

उन्होंने कहा, ‘‘ औद्योगिक अनुमानों के मुताबिक पिछले एक साल में मोबाइल से होने वाले लेनदेन की संख्या में 218% की वृद्धि हुई है। डेबिट कार्ड से लेनदेन 103% बढ़ा है और 57 बैंकों ने देशभर में यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) सेवा शुरु की है।’’ उन्होंने कहा कि यूपीआई से होने वाले लेनदेन की संख्या अप्रैल में 38 लाख थी जो अक्तूबर में बढ़कर 7.7 करोड़ हो गई। डिजिटल लेनदेन में यह तेज वृद्धि स्पष्ट तौर पर दिखाती है कि किस तरह हमारे नागरिकों और कारोबारी समुदाय ने इसे अपनाया है। डिजिटल रथ देश के हर कोने में पहुंचेगा।

कार्यक्रम में मौजूद मास्टरकार्ड के वैश्विक समुदाय संपर्क के कार्यकारी निदेशक रवि अरोड़ा ने कहा कि कंपनी भारत में 2020 तक 70 से 80 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी।

इस कार्यक्रम का आयोजन मास्टरकार्ड और खुदरा व्यापारियों के महासंघ (कैट) ने मिलकर किया।

( Source – PTI )

Leave a Reply

%d bloggers like this: