सरकारी नीति के तहत केरल का सीएमओ होगा ‘हरित’

सरकारी नीति के तहत केरल का सीएमओ होगा ‘हरित’
सरकारी नीति के तहत केरल का सीएमओ होगा ‘हरित’

केरल के मुख्यमंत्री का कार्यालय (सीएमओ) यहां सचिवालय सहित महत्वपूर्ण सरकारी संस्थानों में ‘ग्रीन प्रोटोकॉल’ लागू करने के एलडीएफ सरकार के प्रयासों के तहत ‘हरित’ होने जा रहा है।

स्वच्छता के लिए नोडल एजेंसी राज्य सरकार का ‘सुचितवा मिशन’ है। इसके समर्थन के साथ राज्य को स्वच्छ और हरित बनाने के लिए सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम ‘हरिता केरलम मिशन’ के तहत सरकारी कार्यालयों में हरित प्रोटोकॉल का संयुक्त रूप से क्रियान्वयन किया जा रहा है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अभियान के तहत सीएमओ और सचिवालय स्थित अन्य कार्यालयों में किसी भी बैठक या कार्यक्रमों में प्लास्टिक या डिस्पोजेबल सामग्री का इस्तेमाल नहीं होगा ।

यहां सचिवालय में सीएमओ और अन्य मंत्रियों का कार्यालय है ।

उन्होंने बताया कि प्लास्टिक की बोतलों और कैरी बैग, पैकेज्ड पेयजल, डिस्पोजेबल प्लेट और फ्लेक्स बोर्ड की इजाजत नहीं होगी ।

हरिता केरलम मिशन की मुख्य कार्यकारी अधिकारी टी एन सीमा ने कहा कि केवल पर्यावरण अनुकूल सामग्री ही सीएमओ सहित सरकारी कार्यालयों में इस्तेमाल की जाएगी।

( Source – PTI )

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: