भारत के 1235 वर्षीय स्वाधीनता संग्राम पर लिखी गई पुस्तक के लिए श्री राकेश आर्य किए गए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित

नई दिल्ली । अखिल भारत हिंदू महासभा के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और ‘ उगता भारत ‘ के संपादक श्री राकेश कुमार आर्य को शिक्षा पुरस्कार योजना वर्ष 2017 के अंतर्गत ₹100000 के नगद राष्ट्रीय पुरस्कार से पुरस्कार से सम्मानित किया गया है ।भारत सरकार के केंद्रीय हिंदी निदेशालय द्वारा यह पुरस्कार श्री आर्य को उनकी प्रसिद्ध कृति भारत के 12 35 वर्षीय स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास पर दिया गया है । जिसमें उन्होंने इस तथ्य और सत्य को प्रतिपादित किया है कि भारत ने विदेशी परतंत्रता को कभी भी हृदय से आत्मसात नहीं किया , अपितु वह सदैव ही विदेशी पराधीनता के विरुद्ध बगावत पर उतारू रहा और स्वतंत्र होने के लिए संघर्ष करता रहा । इस प्रकार श्री आर्य ने वर्तमान इतिहास की उस प्रचलित कालिमा को धोने का प्रयास किया है जिसमें भारत के लोगों को भारत के ही इतिहासकारों ने कायर दिखाने का कार्य शर्मनाक ढंग से किया है ।
श्री आर्य ने इस सम्मान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वास्तव में उनको मिला यह पुरस्कार उनके पूज्य पिता श्री राजेंद्र सिंह आर्य जी की पुण्य प्रेरणा को दिया गया पुरस्कार है ।जिसके लिए वह प्रेरणादायक मार्गदर्शन को नमन करते हैं ।साथ ही अपने आत्मीय परिजनों की प्रेरणा और ज्येष्ठ, श्रेष्ठ, वरिष्ठ प्रियजनों के प्रोत्साहन को भी इस सब के लिए उत्तरदायी मानते हैं।
श्री आर्य ने कहा कि भारत के इतिहास में जितना घालमेल किया गया है वह वास्तव में ही बहुत ही पीड़ादायक हैं। जिस पर उन्होंने कठिन परिश्रम कर 1235 वर्षीय स्वतंत्रता संग्राम लिखने का संकल्प लिया । इस कार्य के लिए यदि उन्हें यह राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया है तो इसके लिए वह ईश्वरीय अनुकंपा को भी सादर नमन करते हैं । श्री आर्य ने कहा कि वह इस दिशा में और भी ठोस कार्य करने की योजना रखते हैं जिस पर वह भविष्य में और भी मनोयोग से कार्य करेंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: