Homeविविधविरोध करने पर संघ स्वयंसेवक को उतारा मौत के घाट

विरोध करने पर संघ स्वयंसेवक को उतारा मौत के घाट

समुदाय विशेष के लोगों ने सोशल मीडिया पर डाली आपत्तिजनक पोस्ट , 

खंडवा – मध्य प्रदेश के खंडवा में सोशल मीडिया पर डाली गई आपत्तिजनक पोस्ट का विरोध करने पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई । हत्या करने वाले सभी आरोपी विशेष समुदाय से ताल्लुक रखते हैं।  प्राप्त जानकारी के अनुसार समुदाय विशेष के इन लोगों ने 22 अप्रैल को फेसबुक पर सीता माता को लेकर अश्लील टिप्पणी की थी ।  इस घटना की जानकारी लगते ही राजेश माली नामक संघ कार्यकर्ता ने पुलिस थाने में इन लोगों के खिलाफ शिकायत की थी मामले में पुलिस के द्वारा लापरवाही बरतते हुए समुदाय विशेष के लोगों को समझा-बुझाकर छोड़ दिया था। थाने से छूटकर  इन आरोपियों के द्वारा खुलेआम राजेश माली को जान से मारने की धमकी दी थी।

जानकारी के मुताबिक 18 मई को आरोपियों के द्वारा राजेश फूल माली के घर पर हमला कर दिया उन्हें बेरहमी से पीटा गया और बचने की कोशिश करने पर उनकी बहन शीला और चाचा पर भी हमला कर दिया ।  इस घटना में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए और अति गंभीर घायल राजेश माली को प्राथमिक उपचार के बाद सागर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया । जहां से 21 मई को राजेश को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट किया गया था जहां कई दिनों के इलाज के बाद राजेश की 31 मई को मौत हो गई ।

पुलिस कर रही है मामले को दबाने की कोशिश

वही इतने गंभीर मामले में स्थानीय पुलिस का लापरवाही पूर्ण रवैया देखने को मिल रहा है। स्थानीय पुलिस प्रशासन का कहना है कि यह घटना बकरी चराने को लेकर हुए विवाद के बाद हुई थी पुलिस गंभीर घटना को महज एक आपसी विवाद बताकर रफा-दफा करने की कोशिश में है।

वहीं स्थानीय पुलिस ने आरोपी सरफराज ,सलमान, सबीर ,अरमान, साकिर, आसिफ, अब्दुल ,अमीन ,बरकत ,वहीद रहमान, वाहिद ,सोनू ,सादिक इरशाद ,परवेज ,युसूफ सहित सात अन्य आरोपियों को इस घटना के बाद गिरफ्तार कर लिया है ।

ग्रामीण कर रहे मुआवजा देने की मांग

घटना के बाद से ही क्षेत्र में आरोपियों को पकड़ने के लिए नागरिकों में जमकर रोष देखने को मिल रहा है। वहीं स्थानीय नागरिक पीड़ित परिवार को सरकारी नौकरी और उचित मुआवजा देने की मांग कर रहा है। ग्रामीणों का कहना है की सहायता से परिवार को आने वाले समय में आर्थिक समस्याओं से नहीं जूझना पड़ेगा।

आरोपी पूर्व में भी डाल चुके है भड़काऊ पोस्ट

भड़काऊ पोस्ट डालने का यह कोई पहला मामला नहीं है इससे पूर्व भी यह आरोपी कई दफा हिंदू धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली भड़काऊ पोस्ट सोशल मीडिया पर डाल चुके हैं। ज्ञात हो कि खंडवा लंबे समय तक स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया सेमी का गढ़ रहा है। जिसके कारण क्षेत्र के युवाओं में कट्टरता और आतंकवादी गतिविधियों के प्रति काफी जो ख्वाब देखने को मिलता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

spot_img