लौट कर आयूंगा कूच से क्यों डरूं

Posted On by & filed under राजनीति

अतुल गौड अटल थे तो कहाँ जायेंगे यहीं तो है आप उन्हें जहाँ पाएंगे अटल जी जैसी शक्शियतें कभी मरा नहीं करती ये बात और है की मौत से उनकी ठनी थी एवो प्रकर्ति का नियम है उसे हर हाल में सूरते अंजाम होना ही था हुआ भी वही जो होना था रार नहीं ठानने… Read more »

  अटल सत्ता के नहीं सत्ता उनकी सारथी बनी

Posted On by & filed under राजनीति

 प्रभुनाथ शुक्ल भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी आखिरकार काल से रार नहीं ठान पाए और 93 साल की जीवन यात्रा में अंतिम सांस ली। नई दिल्ली के एम्स में 11 जून को उन्हें भर्ती कराया गया था। 65 दिनों तक नई दिल्ली के एम्स में जीवन और मौत से संघर्ष करते हुए लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर… Read more »

राजनीतिक क्षितिज का एक चमकता सितारा अस्त हो गया 

Posted On by & filed under राजनीति

अशोक बजाज वह दृश्य अभी भी ऑंखो से ओझल नहीं हो पाया है जब 31 अक्टूबर 2000 को घड़ी की सुई ने रात के 12 बजने का संकेत दिया तो चारो तरफ खुशी  और उल्लास का वातावरण बन गया। लोग मस्ती में झूमते- नाचते एक दूसरे को बधाइयॉं दे रहे थे. प्रधानमंत्री माननीय अटल बिहारी… Read more »

अटल होना आसान नहीं होता..

Posted On by & filed under राजनीति

विवेक पाठक आओ फिर से दिया जलाएं, गीत नया गाता हूं, क्या भूलूं क्या याद करुं। भाव प्रवण कविताएं लिखने वाले अटल बिहारी वाजपेयी आज चिरनिद्रा में सो गए। वे सत्ताओं को झकझोर देने वाली आवाज हमेशा के लिए धरोहर बन गई है। लंबे समय से बीमार चल रहे भारतमाता के महान सपूत आज अपने… Read more »

राजनीति के महायोध्दा का महाप्रयाण

Posted On by & filed under राजनीति

ब्रह्मानंद राजपूत भारत माँ के सच्चे सपूत, राष्ट्र पुरुष, राष्ट्र मार्गदर्शक, सच्चे देशभक्त ना जाने कितनी उपाधियों से पुकार जाता था भारत रत्न पंडित अटल बिहारी वाजपेयी जी को वो सही मायने में भारत रत्न थे। इन सबसे भी बढ़कर पंडित अटल बिहारी वाजपेयी जी एक अच्छे इंसान थे। जिन्होंने जमीन से जुड़े रहकर राजनीति… Read more »

पोखरण के महानायक रहे अटल बिहारी वाजपेयी

Posted On by & filed under राजनीति

डॉ. अर्पण जैन ‘अविचल’ जो जिया हो भारत भारती के लिए, जिसने ताउम्र केवल राष्ट्र जिया, कविता के शब्दों से संसद के गर्भगृह को सुशोभित किया हो, पोखरण परमाणु परिक्षण से विश्व को भारत की शक्ति का आभास कराया, कारगिल युद्ध से पाकिस्तान को औकात दिखाई हो, स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना से राष्ट्र को जोड़ा हो, कावेरी जल विवाद को सुलझाने वाले, केन्द्रीय विद्युत… Read more »

अटल राजनीति की गरिमा स्थापित करने वाली शख्यिसत हैं और हमेशा रहेंगे

Posted On by & filed under राजनीति

विवेक कुमार पाठक आओ फिर से दिया जलाएं, गीत नया गाता हूं, क्या भूलूं क्या याद करुं।  भाव प्रवण कविताएं लिखने वाले अटल बिहारी वाजपेयी आज खामोश हैं। वे गहरे मौन में हैं लोग भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की खनकदार आवाज को याद कर रहे हैं। करोड़ों देशवासी दुआ कर रहे हैं कि अटलजी… Read more »

अटल जी, बातें और यादें

Posted On by & filed under राजनीति

   विजय कुमार बात संभवतः सितम्बर 1983-84 की है। मैं उन दिनों बरेली में प्रचारक था। पश्चिमी उ.प्र. के सभी जिला प्रचारकों की एक बैठक मथुरा में हुई। स्व. दीनदयाल उपाध्याय का पैतृक गांव नगला चंद्रभान मथुरा जिले में ही है। उनके निधन के बाद वहां उनकी स्मृति में प्रतिवर्ष मेला होता है। अनेक तरह… Read more »

आंखों से बोलते थे अटल जी

Posted On by & filed under राजनीति

प्रवीण गुगनानी प्रसिद्ध दार्शनिक सुकरात ने कहा था कि “जिस देश का राजा कवि होगा उस देश में कोई दुखी न होगा” – अटल जी के प्रधानमंत्रित्व काल में यह बात चरितार्थ हो रही थी. स्वातंत्र्योत्तर भारत के नेताओं में कुछ ही ऐसे नेता हुए हैं जो विपक्षियों से भी सम्मान पातें हों. और ऐसे जननेता तो… Read more »

वाजपेयीजी को अलविदा नहीं कहा जा सकता

Posted On by & filed under राजनीति

ललित गर्ग- भारतीय राजनीति का महानायक, भारतीय जनता पार्टी के 93 वर्षीय दिग्गज नेता, प्रखर कवि, वक्ता और पत्रकार श्री अटल विहारी वाजपेयी मौत से जंग करते हुए इस संसार से विदा हो गये हैं। उनका निधन न केवल भारत की राजनीति की बल्कि राष्ट्रीयता की अपूरणीय क्षति है। पूरा राष्ट्र अपने महानायक से जुदा… Read more »