साहित्‍य

सोए हुए पौरुष और स्वाभिमान को जागृत-झंकृत करने वाली वीरांगना के नाम!

- बलिदान-दिवस विरला ही कोई ऐसा होगा जो महारानी लक्ष्मीबाई के साहस, शौर्य एवं पराक्रम को पढ़-सुन विस्मित-चमत्कृत न होता...

कल तक जो हिन्दू थे आज विधर्मी हो गए

---विनय कुमार विनायकपरिस्थितिजैसे बना देती है,वैसा ही, हो जाता है आदमी,कलतक जोहिन्दूधर्मीथे,आजविधर्मीहो गए आदमी! जिनके पूर्वजों ने ढेर दुख सहे,मूल...

मानव की मौलिक प्रवृत्ति है

---विनय कुमार विनायकमानवकी मौलिक प्रवृत्ति हैअपनीगुनाहव सजा के लिएदूसरे को कसूरवारठहराना! जबकि हरेकशख्सपाता है, अपनी कृतगुनाह की सजा! मानव की...

बढ़ता मरुस्थल गंभीर पर्यावरणीय संकट

अन्तर्राष्ट्रीय रेगिस्तान एवं सूखा रोकथाम दिवस-17 जून, 2021 ललित गर्ग- विश्व मरुस्थलीकरण रोकथाम दिवस (डब्ल्यूडीसीडी) वर्ष 1995 से प्रतिवर्ष 17...

सबका खून होता एक समान

---विनय कुमार विनायकऐसाथापैगम्बरकाकहना,मानवमात्रसभीभाईहैंसबभाई-भाईबनकररहना! राजारंकफकीरऔरमुल्ला,सबसेउपरएकहीअल्लाह'लाइलाहइल्लल्लाह---'या‘एकोब्रह्मदूजानास्ति---' उस एकईश्वर अल्लाह के सिवाइबादतकोऔरनहींकोईदूजा! फिरअबकौनयहांकठमुल्ला,इंसान-इंसानमेंभेदकरानेकीसाजिशकरताखुल्लम-खुल्ला? क्याहिन्दू! क्यामुसलमान!सबकाखूनहोताएकसमान! चाहेहोउनकानिवास स्थान,इंडोनेशिया,मेसोपोटामियाइराक,ईरान,पाक,बांगलाऔरअफगानिस्तान,सारेआर्यावर्तकेहिस्सेविशालभारत/बृहत्तरहिन्दुस्तान! इराक-आर्याक-मेसोपोटामिया थाआर्यों काअपनाउपनिवेशस्थल, ईरान-आर्यानयाकिपर्सियाथाआर्य जाति कामूल...

कोरोना काल में मनोरोगियों की बढ़ती संख्या और भारत का सीमित मानसिक स्वास्थ्य ढांचा

-प्रो. रसाल सिंहदुनिया की सर्वश्रेष्ठ महिला टेनिस खिलाड़ियों में से एक जापानी मूल की नाओमी ओसाका के एक निर्णय ने...

संत शिरोमणि कबीर सर्वधर्म सद्भाव के प्रतीक थे

संत कबीर जन्म जयन्ती- 15 जून, 2021 के उपलक्ष्य मेंललित गर्ग संत कबीर भारतीय संत परम्परा के महान् हस्ताक्षर, समाज-सुधारक...

मैं देह नहीं हूंमैं देह से परे हूं

---विनय कुमार विनायकमैं देह नहीं हूं, मैं देह से परेहूं,मैं अंगनहीं,मैंअंगको धरे हूं,मैं नेह,मैं स्नेह,मैं विशेषण हूं,मैं देह काअंग,कदापिनहीं हूं,...

63 queries in 0.381