Homeविविधजैन समाज के तीन प्रमुख समाजसेवियों को ‘दर्शन सागर अवॉर्ड’

जैन समाज के तीन प्रमुख समाजसेवियों को ‘दर्शन सागर अवॉर्ड’

 कोठारी, जवेरी एवं संघवी को जनसेवा के लिए सम्मान, राष्ट्रसंत आचार्य चंद्रानन सागर के सानिध्य में शानदार समारोह संपन्न

4 अक्टूबर, 2023

मुंबई। शिक्षा, समाजसेवा, जीवदया एवं विभिन्न कार्यों के लिए राष्ट्रीय स्तर पर दिया जाने वाला देश का लब्धप्रतिष्ठित सम्मान ‘दर्शन सागर अवार्ड’ इस बार उद्योगपति गणपत कोठारी (जसोल), धर्मप्रेमी विनोदभाई जवेरी (पाटण) एवं समाजसेवी चुन्नीलाल संघवी (मालवाड़ा) को दिया गया। राष्ट्रसंत आचार्य चंद्राननसागर सूरीश्वर महाराज के सानिध्य में श्री नाकोड़ा भैरव दर्शन धाम में आयोजित एक विशेष समारोह में देश विदेश से आये प्रमुख अतिथियों की उपस्थिति में तीनों समाजसेवियों को सन 2023 का यह दर्शन सागर सम्मान प्रदान किया गया। यह जानकारी अवॉर्ड समिति के सदस्य राजनीतिक विश्लेषक निरंजन परिहार ने दी। 

गच्छाधिपति आचार्य दर्शनसागर सूरीश्वर महाराज की 30वीं पुण्य तिथि पर आयोजित इस समारोह में राष्ट्रसंत आचार्य चंद्रानसागर महाराज ने अवॉर्ड प्राप्तकर्ताओं की अनुमोदना की। अवॉर्ड समारोह की आयोजन समिति के सदस्य युवा समाजसेवी प्रवीण शाह ने बताया कि राजस्थान में बालोतरा जिले के मूल निवासी और पाली के उद्योगपति का गणपत कोठारी के सामाजिक कार्यों, गुजरात के पाटन निवासी विनोदभाई जवेरी की साधु संतों की सेवा तथा धर्म के क्षेत्र में किये गए कार्यों एवं मारवाड़ में सांचौर जिले के मालवाड़ा निवासी संघवी चुन्नीलाल शाह की गौशाला तथा जीवदया गतिविधियों के जरिये मरुभूमि में किए जा रहे सेवा कार्यों के लिए यह सम्मान उन्हें दिया गया है। महाराष्ट्र विधान परिषद सदस्य रविंद्र फाटक भी इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित थे। इस अवार्ड समारोह में समाज के प्रत्येक वर्ग के विकास के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान देने वाले इन तीनों समाजसेवियों को भक्ति संगीतकार अनिल सालेचा की सुरीली स्वर लहरियों के बीच राजस्थानी परंपरा से साफा पहनाकर, शाल एवं श्रीफल व सम्मान चिन्ह प्रदान कर उनका अभिनन्दन किया गया। प्रवीण शाह ने बताया कि इस समारोह में देश भर से सैकड़ों लोग विशेष रूप से नाकोड़ा दर्शन धाम पहुंचे थे।

‘दर्शन सागर अवार्ड’ का देश भर में बहुत बड़ा महत्व है। पिछले 17 साल से लगातार दिया जाने वाले इस अवॉर्ड समारोह में तत्कालीन उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत, तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, सांसद राज बब्बर, संजय निरुपम, राज्यपाल गुलाबचंद कटारिया, सांसद नीरज डांगी, केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला, तत्कालीन मुख्यमंत्री नारायण राणे एवं उद्धव ठाकरे जैसे महत्वपूर्ण लोग भी इस समारोह में शिरकत कर चुके हैं। राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित सम्मान ‘दर्शन सागर अवार्ड’ प्राप्त करने पर जसोल निवासी गणपत कोठारी ने कहा कि यह सम्मान समाज का एक ऐसा भार है, जो उन्हें लगातार से करने के लिए प्रेरित करता रहेगा। ‘दर्शन सागर अवार्ड’ मिलने पर संघवी चुन्नीलाल शाह ने कविता में कहा कि – ‘एक मैं हूं जो खुद को समझ नहीं पाया आज तक, एक जमाना है जो न जाने क्या क्या समझ गया।‘ पाटण निवासी विनोदभाई जवेरी ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह समाज का दिया हुआ सम्मान नहीं, उनके कार्यों की स्वीकारोक्ति है, जो आने वाली पीढ़ियों को अच्छे काम करने की प्रेरणा देता रहेगी। अवॉर्ड समारोह में पधारे अतिथियों एवं श्रद्धालुओं को आचार्य चंद्रानन सागर ने शुभाशीष दी एवं राष्ट्र में शांति, अहिंसा एवं धर्म के वातावरण का निर्माण करने में सभी को सहायक बनने की प्रेरणा दी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here
Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!

Must Read

spot_img