अमेरिका ने कहा – ‘ये आतंकवादी संगठन हैं US के लिए खतरा’

नई दिल्लीः अमेरिका द्वारा आतंकवाद निरोध के लिये जारी की गई नई राष्ट्रीय रणनीति में पाकिस्तान से संचालित दो आतंकवादी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा और तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के अतिरिक्त बोको हराम की पहचान अमेरिका के लिये संभावित खतरे के तौर पर की गई है। व्हाइट हाउस द्वारा गुरुवार को जारी आतंकवाद निरोध के लिये राष्ट्रीय रणनीति में कहा गया है कि आईएसआईएस और अल कायदा के अलावा कई अन्य कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवादी संगठन स्थानीय रूप से केन्द्रित विद्रोहियों या आतंकवादी अभियानों को बढ़ावा देने के लिये काम कर रहे हैं, जबकि वे अमेरिकी नागरिकों और विदेश में उसके हितों के लिये संभावित खतरा बने हुए हैं।

इसके अनुसार, इन संगठनों के अलावा बोको हराम, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान और लश्कर-ए-तैयबा स्थानीय सरकारों को कमजोर करने और हमले करने के लिये राजनीतिक एवं आतंकवादी हथकंडा अपना रहे हैं। रणनीति के अनुसार सीमित संसाधन या राजनीतिक कारणों के चलते ये संगठन अमेरिकी सरजमीं या अमेरिकी हितों के खिलाफ हमले की जगह संभवत: क्षेत्रीय लक्ष्यों को प्राथमिकता देंगे। रणनीति के अनुसार, इनमें से कई संगठन अमेरिका के लिये खतरा बने हुए हैं हालांकि वे दुनियाभर में अपने समर्थकों का नेटवर्क बनाये रखने में कामयाब भी रहे हैं और आईएसआईए या अलकायदा के साथ उनके संबंध बरकरार हैं जो अमेरिकी हितों के लिये उनके संभावित खतरे को रेखांकित करते हैं।

%d bloggers like this: