अमेरिकी चेतावनी के बीच भारत और रूस ने की एस-400 मिसाइल डिफेंस डील

नई दिल्लीः अमेरिकी तरफ से प्रतिबंधन की चेतावनी के बावजूद भारत और उसके पुराने मित्र रूस ने एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम करार पर दस्तखत कर दिया है। समाचर एजेंसी एएनआई ने अपने सूत्रों के हवाले से इस बात की जानकारी दी है। इसके साथ ही, रूस और भारत के बीच अंतरक्ष में सहयोग को लेकर पर समझौते पर दस्तखत किए गए। इसके तहत, रूस के साइबेरिया के नोवोसिबिर्स्क में भारत एक मॉनिटरिंग सेंटर जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीत दिल्ली के हैदराबाद हाउस में शुक्रवार को हुई द्विपक्षीय वार्ती के दौरान इस डील पर मुहर लगाई गई। इससे पहले पीएम मोदी ने गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए व्यक्तिगत रात्रिभोज का आयोजन किया था। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय सहयोग और रणनीतिक मुद्दों सहित अन्य ज्वलनशील मुद्दों पर चर्चा हुई।

रूसी राष्ट्रपति पुतिन के साथ उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आया है जिसमें उप प्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव, विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और व्यापार और उद्योग मंत्री डेनिस मंटूरोव शामिल हैं। बैठक से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी और अंग्रेजी भाषाओं में ट्वीट किया, भारत में आपका स्वागत है राष्ट्रपति पुतिन। हमारी बातचीत को लेकर उत्सुक हूं, इससे भारत-रूस संबंध और प्रगाढ़ होंगे।

%d bloggers like this: