अयोध्या विवाद: आज तय होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई की रूपरेखा

नई दिल्लीः अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में आज से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू होने वाली है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई यह तय करेंगे क्या उनके नेतृत्व में ही बेंच इस मामले की सुनवाई करे या फिर किसी अन्य पीठ को यह मामला भेजा जाए। बता दें कि अयोध्या विवाद पर इलाहाबाद हाई कोर्ट की 3 जजों की बेंच ने 30 सितंबर, 2010 को 2:1 के बहुमत वाले फैसले में कहा था कि 2.77 एकड़ जमीन को तीनों पक्षों- सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला में बराबर-बराबर बांट दिया जाए। इस फैसले के खिलाफ रामलला विराजमान, हिंदू महासभा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की। दूसरी तरफ सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने भी सुप्रीम कोर्ट में हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ अर्जी दाखिल कर दी।

सुप्रीम कोर्ट के तत्कालीन चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस अब्दुल नजीर की पीठ ने आदेश दिया था कि विवादित भूमि के मालिकाना हक वाले दीवानी मामले की सुनवाई तीन जजों की पीठ 29 अक्टूबर से करेगी। पीठ ने नमाज के लिए मस्जिद को इस्लाम का अनिवार्य अंग नहीं मानने वाले इस्माइल फारूकी मामले में 1994 के फैसले के अंश को पुनर्विचार के लिए सात जजों की पीठ को भेजने से इनकार कर दिया था।

%d bloggers like this: