कश्मीर:पंचायत चुनाव के खिलाफ प्रमुख स्थानीय दलों और अलगावादियों के विरोधी रुख

नई दिल्लीः कश्मीर में पुलिसकर्मियों में दहशत का माहौल पैदा करके आतंकी पंचायत चुनाव टलवाना चाहते हैं। धारा-35 ए को लेकर स्थानीय लोगों में उपजे भ्रम और असंतोष की आड़ में आतंकी गुटों के प्रति सहानुभूति रखने वाले तत्वों की संख्या बढ़ी है। पंचायत चुनाव के खिलाफ प्रमुख स्थानीय दलों और अलगावादियों के विरोधी रुख का फायदा भी आतंकी तत्व उठाना चाहते हैं। सूत्रों ने धारा-35 ए की आड़ में स्थानीय लोगों में बढ़ रहे असंतोष की रिपोर्ट एजेंसियों को दी है। दक्षिण कश्मीर सबसे ज्यादा गड़बड़ी का शिकार हो रहा है।

बदले की कार्रवाई में पुलिस पर निशाना

खुफिया सूत्रों का कहना है कि 200 आतंकी अभी भी घाटी में सक्रिय हैं। सुरक्षा बलों के ऑपरेशन के खिलाफ बदले की कार्रवाई में अब तक कई पुलिसकर्मियों, उनके परिवारों को निशाना बनाया गया है। आतंकी गुट इन्हें निशाना बनाकर सुरक्षा बलों के खिलाफ मनोवैज्ञानिक बढ़त चाहते हैं। पिछले दिनों कई वीडियो वायरल हुए हैं जिनमें एसपीओ से नौकरी छोड़ने को कहा गया है। उनके परिवारों को भी धमकाया जा रहा है। सूत्रों का कहना है पुलिसकर्मियों के रिश्तेदारों को भी धमकाया गया है।

%d bloggers like this: