खुशखबरी :प्रवक्ता के पुरे हुए दस साल आइये संग मनाये 10वीं वर्षगाँठ

नई दिल्लीः स्‍वतंत्रता आंदोलन के दौरान पत्रकारिता ने जन-जागरण में अहम भूमिका निभाई थी लेकिन आज यह जनसरोकारों की बजाय पूंजी व सत्ता का उपक्रम बनकर रह गई है। मीडिया दिन-प्रतिदिन जनता से दूर हो रहा है। ऐसे में मीडिया की विश्वसनीयता पर सवाल उठना लाजिमी है। आज पूंजीवादी मीडिया के बरक्‍स वैकल्पिक मीडिया की जरूरत रेखांकित हो रही है, जो दबावों और प्रभावों से मुक्‍त हो। प्रवक्‍ता डॉट कॉम इसी दिशा में एक सक्रिय पहल है।

प्रवक्ता डॉट कॉम के 10 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर, “न्यू मीडिया के आगे नतमस्तक मुख्यधारा की मीडिया” विषय पर 16 अक्टूबर 2018 को शायं 5 बजे कॉन्स्टिट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया के स्पीकर हॉल में संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर
सांसद और भारतीय जनता पार्टी के जनरल सेक्रेटरी, *डॉ अनिल जैन

वक्ता के रूप में :
अमर उजाला के समूह सम्पादक, श्री उदय सिन्हा

माइक्रोसॉफ्ट के भाषा स्थानीयकरण के निदेशक और सोशल मीडिया विशेषज्ञ, बालेंदु शर्मा दधीचि,

ज़ी मीडिया समूह के राजनीतिक मामलों के समूह सम्पादक, बृजेश कुमार सिंह

न्यूज़ नेशन में संपादक, विनीता यादव

कार्यक्रम की अध्यक्षता IGNCA के सदस्य सचिव सचिदानंद जोशी करेंगे।

कार्यक्रम का संचालन माखनलाल में सहायक प्राध्यापक डॉ सौरभ मालवीय

कार्यक्रम में स्वागत भाषण प्रवक्ता डॉट कॉम के संस्थापक भारत भूषण एवं धन्यवाद ज्ञापन संस्थापक संपादक संजीव सिन्हा करेंगें।

प्रवक्ता डॉट कॉम अपने लेखकों के लिए जाना जाता है, इसलिए लिखित तलवारों को सम्मानित करने के लिए सभी प्रतिष्ठित लेखकों की तरह; उमेश चतुर्वेदी (लेखक और फ्रीलांस कमेंटेटर, मीडिया कंसल्टेंट, न्यूज सर्विस डिवीजन, एआईआर, नई दिल्ली), अरविंद जयतिलक (स्वतंत्र टिप्पणीकार), डॉ. नीलम महेंद्र (वरिष्ठ स्तंभकार, पंजाब केसरी और सम्ना के स्तंभकार, संपादक, हिंदू गर्जना जगरन पत्रिका, अतिथि संपादक, विशाखरा, वीरसुरा टाइम्स, 6 बार सर्वश्रेष्ठ ब्लॉगर ऑनर, मामा माणिकचंद सर्वश्रेष्ठ संपादकीय लेखक सम्मान), गोपाल भगेल ‘मधु’ (अध्यक्ष , अखिल विश्व हिंदू समिति, कनाडा), शकुंतला बहादुर, पंकज कुमार नाथानी (सहायक निर्माता, समाचार राष्ट्र), डॉ मुनीश रायजादा (लेखक शिकागो आधारित बाल रोग विशेषज्ञ और सामाजिक-राजनीतिक विश्लेषक हैं), लोकेंद्र सिंह राजपूत (पूर्व रिपोर्टर, दैनिक भास्कर, सहायक प्रोफेसर, पत्रकारिता और संचार विभाग, मखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय), कुमार सुशांत (मीडिया कंसल्टेंट, पशुपालन, डेयरी और मत्स्यपालन विभाग, कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार), आशीष कुमार ‘अंशु’ (स्वतंत्र लेखक), सिद्धार्थ शंकर गौतम (फ्रीलांस लिखें आर, दैनिक जागरण, दैनिक भास्कर, हरिभुमी, नवभारत, राष्ट्रीय सहारा इत्यादि), पियुष दीवेदी ‘भारत’ (फ्रीलांस राइटर) को “अटल पत्रकारिता सम्मान 2018” से सम्मानित किया जाएगा।

%d bloggers like this: