तेलंगाना के नलगोंडा मामले में पुलिस ने किया चौकाने वाला खुलासा

नई दिल्ली : तेलंगाना के नलगोंडा में हुए एक ऑनर किलिंग मामले में पुलिस ने कई चौकाने वाले खुलासे किए हैं।बेटी द्वारा किसी और धर्म में शादी करने से नाराज पिता ने अपने ही दामाद को रास्ते से हटाने के लिए जो साजिश रची वो किसी थ्रिलर फिल्म की कहानी से कम नहीं है।मामले में पुलिस ने सुपारी किलर सुभाष शर्मा सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों में से दो को 2003 में गुजरात के तत्कालीन मंत्री हरेन पांड्या की हत्या में अपराधी घोषित किया गया था, लेकिन बाद में इन्हें छोड़ दिया गया था।बता दें कि नलगोंडा में 23 वर्षीय दलित ईसाई युवक प्रणय के ऊंची जाति की युवती अमृता वार्षिणी से शादी करने के बाद पिछले शुक्रवार को हत्या कर दी गई थी। सरेआम हुई इस हत्या के खिलाफ जहां पूरे राज्य में सनसनी फैल गई थी, वहीं दलित संगठनों ने जोरदार प्रदर्शन भी किया था।नलगोंडा के पुलिस प्रमुख एवी रंगनाथ ने मीडिया को बताया कि पति की हत्या के बाद अमृता ने वारदात के पीछे पिता मारुति राव और चाचा श्रवण को जिम्मेदार बताया था। इसी के बाद दोनों को गिरफ्तार किया गया है। इन पर एक करोड़ रुपये की सुपारी देकर हत्या कराने का आरोप है। पिता ने हत्या के लिए आरोपियों को 15 लाख रुपये एडवांस भी दिए थे। मारुति हाल ही में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) में शामिल हुआ था। जबकि एक अन्य आरोपी अब्दुल करीम कांग्रेस नेता है।

You may have missed

%d bloggers like this: