दुष्कर्म के आरोप में लिप्त आशु बाबा के आश्रम पहुंची पुलिस, जांच के बाद चौंकाने वाला हुआ खुलासा

नई दिल्ली : दुष्कर्म के आरोपों का सामना कर रहे तथाकथित आशु बाबा के आश्रम पर दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने छापा मारा है। बुधवार को अपराध शाखा की टीम हौज़खास स्थित आश्रम पर पहुंची। जहां जांच कर रही टीम करीब ढ़ेड घंटे तक आश्रम में मौजूद रही और सीसीटीवी कैमरे, कंप्यूटर व अन्य दस्तावेजों की जांच की। फिलहाल पुलिस घर से कुछ अहम दस्तावेज और सीसीटीवी की फुटेज अपने साथ ले गई है। बाबा आशु गुरुदेव को लेकर एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पुलिस भी इस खुलासे के बाद हैरान है। आरोपी बाबा खुद को मां कामाख्या देवी का अनन्य भक्त बताता है।

ड्राइक्लीन की दुकान चलाने वाला आसिफ अपना नाम बदलकर झूठ का साम्राज्य चला रहा था। आशु गुरुदेव का असली नाम आसिफ खान है। उसके पिता का नाम इधा खान है। बाबा बनने से पहले वह दिल्ली में रोहिणी के पास एक मामूली सी ड्राइक्लीन की दुकान चलाता था। इससे उसका घर बड़ी मुश्किल से चल पाता था। एक दिन उसकी मुलाकात एक बाबा से हो गई। वह उस बाबा से इतना प्रभावित हुआ कि आसिफ ने बाबा से तंत्र विद्या वशीकरण सीखने का फैसला लिया। आसिफ ने उस बाबा से तंत्र मंत्र वशीकरण टोटके सीखे। इसके बाद उसने अपना नाम बदल लिया। उसने ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रभावित करने के लिए अपना नाम आशु गुरुदेव किया। धीरे-धीरे वह लोगों को अपनी तंत्र विद्या से अपने बातों में बहलाने लगा। लोग उसके झांसे में आते चले गए। शुरुआत में तो आशु गुरुदेव खुद अपने नाम के पर्चे गलियों-गलियों और मोहल्लों में जाकर बांटता था। जैसे-जैसे लोग उसके झांसे में फंसते गए उसके यहां अंधभक्तों का तांता बढ़ता गया।

22 queries in 0.134
%d bloggers like this: