नगर निगम स्कूलों में हिंदू-मुस्लिम छात्रों को अलग बैठाने का आरोप

नई दिल्लीः शिक्षा विभाग ने बुधवार को एक वरिष्ठ अधिकारी को उन खबरों का संज्ञान लेने के बाद वजीराबाद स्थित उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनएमसीडी) के उस स्कूल का निरीक्षण करने के लिए कहा है जहां छात्रों को कथित तौर पर हिंदू और मुसलमान के आधार पर अलग-अलग सेक्शनों में बांटने आरोप लगाया गया है।

एनएमसीडी के सूत्रों ने बताया कि शीर्ष अधिकारियों ने इस पर संज्ञान लिया और अगर आरोप सही पाए गए तो इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, एक सूत्र ने कहा कि शिक्षा विभाग के निदेशक ने जोनल कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी को स्कूल जाने तथा आरोपों की जांच करने के निर्देश दे दिए हैं। यह प्राथमिक विद्यालय उत्तरी दिल्ली के वजीराबाद इलाके के तहत आता है और इसका प्रशासन एनएमसीडी के हाथों में है। यह इलाका सिविल लाइंस जोन के तहत आता है।

उन्होंने कहा, ”अगर आरोप सही पाए गए तो आज भी कार्रवाई की जा सकती है। दिल्ली में नगर निगम द्वारा चलाए जा रहे सभी स्कूल प्राथमिक विद्यालय हैं और अन्य नगर निगम स्कूलों के शिक्षकों ने इन खबरों पर हैरानी जताई है।

करोल बाग के एक नगर निगम स्कूल में शिक्षक ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा कि एक बच्चे की संतुलित वृद्धि के लिए स्कूलों को राजनीति से दूर रखना चाहिए तथा धर्म और जाति का जिक्र नहीं करना चाहिए। जब एक छात्र स्कूल में प्रवेश करता है तो वह न तो हिंदू होता है और ना मुसलमान, ना सिख और ना ही ईसाई बल्कि वह एक भारतीय होता है और इसी तरह हमें उन्हें पढ़ाना चाहिए।

23 queries in 0.159
%d bloggers like this: