नागौर रैली में पीएम मोदी बोले- मूंग-मसूर में फर्क न समझने वाले किसानी सिखा रहे

नई दिल्लीः राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के लिए 7 दिसंबर को राज्य में होने जा रही वोटिंग के पहले कांग्रेस और बीजेपी ने एक दूसरे पर हमले तेज कर दिए हैं। दोनों पार्टियों को स्टार प्रचारक राज्य में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। पीएम मोदी ने बुधवार को राजस्थान के नागौर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। भाषण की शुरूआत में पीएम मोदी ने महात्मा ज्योतिबा फुले को नमन किया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आज एक कामदार की लड़ाई एक नामदार से है। जो मूंग और मसूर में फर्क नहीं समझते हैं वो आज देश को किसानी सिखाने चले हैं।

1. पीएम मोदी ने कहा, नामदार को तो पता ही नहीं कि धुआं क्या होता है, लकड़ी का चूल्हा कैसे जलता है। मैंने बचपन में मां को लकड़ी के चूल्हे पर खाना पकाते देखा है, धुएं से आंखों से पानी निकलते देखा है, इसलिए उज्ज्वला योजना शुरू करने की प्रेरणा मिली। आपके एक सही वोट की वजह से राजस्थान की हमारी 50 लाख माताओं-बहनों को धुएं से छुटकारा मिल गया।

2. पीएम मोदी ने कहा – मैं यहां आपसे अपने पोते-पोतियों के विकास के लिए नहीं बल्कि आपके सपने को साकार करने के लिए वोट मांगने आया हूं।

3. मोदी ने कहा, ‘बीजेपी की सरकार कहीं भी हो चाहे दिल्ली में या राजस्थान में, हमारी सरकार का एक ही मंत्र होता है सबका साथ सबका विकास।

4. पीएम मोदी ने कहा कि राजस्थान के लोगों को अगर पानी मिल जाए तो वह मिट्टी में से सोना निकाल सकते हैं।

5. कांग्रेस राज के भ्रष्टाचार का आलम यह था कि जो बेटी पैदा ही नहीं हुई वह विधवा हो जाती थी और हर महीने उसके नाम से विधवा पेंशन का चेक कट जाता थाः पीएम मोदी

6. आप जैसे जी रहे हैं, वैसे ही मैंने भी जीवन जिया है, ना तो मैं और ना ही आप, सोने की चम्मच लिए पैदा हुए हैं।

7. वे लोग जिनकी चार पीढ़ियों का जनता से कोई जुड़ाव नहीं रहा, वह आपकी पीड़ा को नहीं समझ सकते : मोदी।

8. नागौर की रैली में मोदी ने कहा: हमारा एकमात्र मंत्र है ‘सबका साथ, सबका विकास। यह समाज सुधारक ज्योतिबा फुले और बी आर आंबेडकर से प्रेरित है।

9. प्रधानमंत्री ने कहा कि जो मूंग और मसूर में फर्क नहीं समझते वो देश में किसानों को किसानी सिखाने चले हैं।

10. 6 करोड़ ऐसे फर्जी लोगों के नाम के सहारे हर साल 90 हजार करोड़ रुपये का घपला कर लिया जाता था।

%d bloggers like this: