नौसेना प्रमुख ने कहा – ‘हम कुलभूषण जाधव के परिवार के संपर्क में हैं’

नई दिल्लीः नौसेना प्रमुख एडमिरल लांबा ने नेवी डे से एक दिन पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देश की सुरक्षा का भरोसा दिलाया। एडमिरल ने कहा, मैं मैं देश को भरोसा दिलाता हूं कि नौसेना भारत के समुद्री इलाके पर दिन-रात निगरानी रखती है। नौसेना अपनी क्षमता बढ़ाने के लिये 56 युद्धक जहाजों और पनडुब्बियों को शामिल करने की योजना बना रही है जिससे देश की सुरक्षा में कोई कमी ना आए।

बीते दिनों अंडमान निकोबार द्वीप समूह घूमने आए अमेरिकी नागरिक की हत्या पर एडमिरल ने कहा, मैं इसे तटीय सुरक्षा निर्माण की विफलता के रूप में नहीं देखता हूं। वो अंडमान निकोबार द्वीप समूह पर घूमने आया था उसे वहां जाने की परमिशन थी। अंडमान की पुलिस इस पूरे मामले की जांच करेगी। अंडमान निकोबार के प्रतिबंधित इलाके में रह रहे आदिवासियों ने 17 नवंबर को एक अमेरिकी टूरिस्ट जॉन चाउ की हत्या कर दी थी।

पहले माना जा रहा था कि जॉन चाउ अवैध तरीके से इस प्रतिबंधित इलाके में दाखिल हुए थे लेकिन अब कहा जा रहा है वे लोगों की मदद करने के लिए आदिवासी इलाकों में गए थे। क्योंकि उनकी सोशल मीडिया पोस्ट और परिजनों के दावे के मुताबिक चाउ एक ईसाई मिशनरी और पर्वतारोही थे।

‘कुलभूषण जाधव के परिवार के संपर्क में हैं’

इस दौरान एडमिरल ने पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव के बारे में बात की। उन्होंने कहा, हम कुलभूषण जाधव के परिवार के संपर्क में है और जो भी जरूरी सहायता उनके परिवार को चाहिए वो मुहैया कराई जा रही है। बता दें कि पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व अफसर कुलभूषण जाधव के मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) अगले साल 18 से 21 फरवरी को सार्वजनिक सुनवाई करेगा।

यह सुनवाई द हेग के पीस पैलेस में होगी। सुनवाई को वेबसाइट के साथ ही ऑनलाइन वेब टीवी, संयुक्त राष्ट्र ऑनलाइन टीवी चैनल पर अंग्रेजी और फ्रेंच में लाइव स्ट्रीमिंग और ऑन डिमांड (वीओडी) किया जाएगा। गौरतलब है कि पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने जासूसी और आतंकवाद के आरोपों में 48 वर्षीय जाधव को अप्रैल 2017 में मौत की सजा सुनाई थी। भारत ने उसी साल मई में फैसले के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में अपील दायर की थी। न्यायालय की 10 सदस्यीय पीठ ने 18 मई 2017 को पाकिस्तान को मामले की सुनवाई पूरी होने तक जाधव की सजा पर अमल करने से रोक दिया था।

%d bloggers like this: