पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त का बयान – ‘नोटबंदी के बाद से चुनावों में जब्त हो रहे पैसों में हुआ इजाफा’

नई दिल्लीः पिछले हफ्ते मुख्य चुनाव आयुक्त (Chief Election Commissioner) के पद से रिटायर हुए ओपी रावत (OP Rawat) ने कहा कि नोटबंदी के बाद यह समाझा गया कि इससे चुनावों में पैसों का गलत इस्तेमाल में कमी आएगी। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, रावत ने कहा कि पिछले चुनावों की तुलना में नोटबंदी के बाद ज्यादा पैसे जब्त किए गए।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा- “नोटबंदी के बाद, ऐसा समझा गया कि चुनावों में इससे पैसों के गलत इस्तेमाल में कमी आएगी। लेकिन, जब्त किए गए पैसों के आंकड़ों से ऐसा साबित नहीं होता है।”

पांच राज्यों में हो रहे चुनावों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा- “पिछले चुनावों की तुलना में, उन्हीं राज्यों में ज्यादा पैसे जब्त किए गए।”

%d bloggers like this: