बीमार पर्रिकर के घर की ओर सैंकड़ों ने निकाला मार्च, 48 घंटे में मांगा इस्तीफा

नई दिल्लीः कांग्रेस नेताओं समेत हजारों लोगों ने मंगलवार की शाम गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के घर की ओर मार्च निकाला। सभी ने पर्रिकर के निजी आवास तक मार्च निकाला। उनकी मांग है कि पर्रिकर 48 घंटे के भीतर इस्तीफा दें और उन्हें राज्य के लिए फुल टाइम मुख्यमंत्री चाहिए।
लोगों ने यह मार्च ‘पीपल्स मार्च फॉर रिस्टोरेशन ऑफ गवर्नेंस’ के बैनर तले निकाला। लोगों ने एक किलोमीटर तक मार्च निकाला और मनोहर पर्रिकर को 48 घंटे के भीतर मुख्यमंत्री का पद छोड़ने को कहा है।

सामाजिक कार्यकर्ता और एनजीओ द्वारा निकाली गई इस मार्च का कांग्रेस के अलावा एनसीपी और शिवसेना ने भी समर्थन किया है। प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि पर्रिकर को अपना पद छोड़ देना चाहिए क्योंकि वह बीमार हैं। उनका कहना है कि मनोहर पर्रिकर बीमार हैं और इसका भुगतान राज्य को करना पड़ रहा है। हालांकि पुलिस ने मुख्यमंत्री के आवास से 100 मीटर की दूरी पर ही मार्च को रोक दिया था।

रिपोर्टर्स से बातचीत करते हुए डिप्टी कलेक्टर शशांक त्रिपाठी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनकारियों से मिलने से मना कर दिया है क्योंकि उनकी तबीयत ठीक नहीं है। मार्च का नेतृत्व कर रहे सामाजिक कार्यकर्ता आयर्स रोड्रिग्स का कहना है, “हमें फुलटाइम मुख्यमंत्री चाहिए। बीते 9 महीने से सरकार का कामकाज ठप पड़ा है। वह अपने मंत्रियों और विधायकों के साथ कोई बैठक नहीं करते। हम इस कारण से भी उनके घर जाना चाहते हैं ताकि उनकी तबीयत देख सकें। अगर वह 48 घंटे के भीतर इस्तीफा नहीं देते तो पूरे राज्य में प्रदर्शन किया जाएगा।”

%d bloggers like this: