भारतीय उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने टेस्ट के पहले बड़ा बयान

नई दिल्ली :भारतीय उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने पहले टेस्ट से पूर्व आस्ट्रेलिया को प्रबल दावेदार बताते हुए कहा कि आस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने के लिये उनकी टीम को लंबी साझेदारियां करनी होंगी। रहाणे ने मेलबर्न में 2014-15 में विराट कोहली के साथ 262 रन की साझेदारी का उदाहरण देते हुए कहा कि आस्ट्रेलिया का फोकस सिर्फ भारत के स्टार बल्लेबाज पर रहने से दूसरे बल्लेबाजों को एक छोर से अपना काम करने में मदद मिल जाती है।

उन्होंने कहा कि हर बल्लेबाज का काम टीम के लिये योगदान देना है। हमें पिछली बार की तरह लंबी साझेदारियां बनानी होगी। इससे आस्ट्रेलिया में सीरीज जीतने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि पिछली बार एमसीजी पर हमने साझेदारी का पूरा मजा लिया। मिशेल जानसन का फोकस विराट कोहली पर था और दूसरे छोर से मैं मजे से अपना स्वाभाविक खेल दिखा रहा था।

दूसरे छोर पर विराट काफी आक्रामक था, बल्ले से भी और मुंह से भी। रहाणे ने कहा कि इससे मुझे खेल पर फोकस करने और अपना स्वाभाविक खेल दिखाने में मदद मिली। मैं विराट से बिल्कुल विपरीत खेलता हूं। आपको समझना होता है कि हर किसी की भूमिका अलग अलग है, यह टीम का खेल है और विराट भी यह समझता है।

दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों की काफी आलोचना हुई थी जहां सिर्फ कोहली ही चल सके थे। अजिंक्य रहाणे ने कहा कि लोग आलोचना करेंगे या तारीफ करेंगे लेकिन हमें कठिन दौर में एकजुट रहना होगा। इंग्लैंड में हालात काफी चुनौतीपूर्ण थे और इंग्लिश बल्लेबाज भी जूझते दिखे।

%d bloggers like this: