भारतीय नौसैनिक कमांडर टॉमी को बचाने की कोशिश हुई तेज

नई दिल्लीः भारतीय सेना के विमान ने दक्षिण हिंद महासागर में गोल्डन ग्लोब रेस में भाग लेते वक्त बुरी तरह घायल हुए नौसैन्य अधिकारी अभिलाष टॉमी की नौका का पता लगा लिया है। रक्षा प्रवक्ता ने रविवार को जानकारी देते हुए कहा कि कमांडर टॉमी को बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय नौसेना के पी8आई विमान ने अभिषेक की क्षतिग्रस्त हो चुकी नौका को देखा। इस विमान ने रविवार को तड़के मॉरीशस से उड़ान भरी थी। 

16 घंटों के अंदर घायल अधिकारी को बचा लिया जाएगा : सीतारमण

सीतारमण ने रविवार शाम सात बजे एक ट्वीट कर कहा कि भारतीय नौसेना के विमान ने पहले ही कमांडर टॉमी की नौका को खोज निकाला था। मंत्री ने यह भी कहा कि उन्होंने नौसेना के उप प्रमुख वाइस एडमिरल अजीत कुमार पी से घायल अधिकारी की स्थिति के बारे में बात की। सीतारमण ने कहा, ऑस्ट्रेलियाई नौसेना के साथ समन्वय में राहत मिशन चल रहा है। फ्रांसीसी जहाज द्वारा अगले 16 घंटों के अंदर घायल अधिकारी को बचा लिया जाएगा।

ईपीआईआरबी से विमान को संकेत दिया 

प्रवक्ता ने बताया कि जब विमान नौका के ऊपर से उड़ा तब कमांडर टॉमी ने इमरजेंसी पोजिशन इंडिकेटिंग रेडियो बीकॉन (ईपीआईआरबी) से संकेत दिया। इमरजेंसी पोजिशन इंडिकेटिंग रेडियो बीकॉन (ईपीआईआरबी) एक यंत्र है जिसमें समुद्र में हादसे के मामलों में बचाव के लिए बचाव सेवाओं को संकेत दिया जाता है।

आईएनएस सतपुरा और आईएनएस ज्योति मदद को रवाना

रक्षा प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने कहा कि टॉमी को कमर में चोट आई है। टॉमी का सैटेलाइट फोन भी काम नहीं कर रहा है। उन्हें बचाने के लिए नेवी ने आईएनएस सतपुरा, आईएनएस ज्योती, चेतक हेलीकॉप्टर और पी-81 विमान को भी लगा दिया गया है। दूसरे प्रतिभागी एसवी हानले एनर्जी एंडुरेंस भी एस वी थुरिया की तरफ बढ़ रहे हैं। वहीं, मछली पकड़ने में इस्तेमाल होने वाला ऑस्ट्रेलियाई पोत ‘ओशिरिस’ भी उस स्थान की तरफ बढ़ रहा है जहां टॉमी फंसे हुए हैं। बताया गया कि ओशिरिस में एक चिकित्सा अधिकारी सवार हैं और उसमें एक बिस्तर वाला अस्पताल भी मौजूद हैं।

%d bloggers like this: