मध्य प्रदेश चुनाव को लेकर अखिलेश यादव ने बनाई रणनीति

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव के लिए कमर कस रहे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की नजर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनाव पर भी है। मध्य प्रदेश में सपा के प्रत्याशी भी उतारे गए हैं। सोमवार देर रात फीरोजाबाद से लखनऊ जाते समय अखिलेश कुछ देर के लिए चचेरे भाई व जिला पंचायत अध्यक्ष अभिषेक यादव के इटावा आवास पहुंचे। यहां मध्य प्रदेश के चुनाव को लेकर एक घंटे तक रणनीति तैयार की। अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर तीखे हमले भी किए और कहा कि यूपी में भाजपा नहीं आरएसएस की सरकार है। वैमनस्य और सांप्रदायिकता को बढ़ावा दिया जा रहा है। कोई सुरक्षित नहीं है। प्रचार तंत्र पर भाजपा का कब्जा है।
चाचा-चाची का लिया पैर छूकर आशीर्वाद

इटावा जिले से लगने वाले आधा दर्जन विधान सभा क्षेत्रों की जिम्मेदारी भी सौंपी। अभिषेक यादव ने बताया कि वार्ता का मुख्य बिंदु आसपास के जिलों में संगठन की मजबूती के अलावा मध्य प्रदेश चुनाव रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने सीमा से सटी मप्र की तीन विधानसभा सीटों के साथ ही तीन-चार अन्य सीटों पर खास फोकस करने को कहा है। प्रभारी चयन से लेकर अन्य रिपोर्ट देने को भी कहा है। मध्य प्रदेश के जिले से लेकर गांव स्तर तक के कार्यकर्ताओं से मिलने का भी निर्देश दिया गया है। अखिलेश मानते हैं कि लोकसभा चुनाव काफी अहम है और पार्टी को हर हाल में बढ़त हासिल करनी होगी। अखिलेश ने चाचा राजपाल सिंह यादव और चाची प्रेमलता यादव का पैर छूकर आशीर्वाद भी लिया।

%d bloggers like this: